Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

भारत-पाकिस्तान के बीच बॉर्डर पर तनाव और कूटनीतिक जंग के बीच गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का कजाकिस्तान के अस्ताना में आमना-सामना हुआ। दरअसल, पीएम मोदी शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन यानि SCO शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए कजाकिस्तान में थे जहां पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ भी मौजूद थे। इस शिखर सम्मेलन में भारत और पाकिस्तान को SCO की पूर्णकालिक सदस्यता मिली और दोनों देश यूरेशियन ब्लॉक के सातवें और आठवें सदस्य बन गए जिनमें चीन, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान शामिल हैं। इस बीच सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी और नवाज शरीफ के बीच दुआ-सलाम भी हुई। हाल ही में पाक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की ओपन हार्ट सर्जरी हुई है जिसके चलते प्रधानमंत्री मोदी ने नवाज से उनकी सेहत सहित उनके परिजनों के खैरियत की जानकारी ली। नवाज और मोदी के बीच मुलाकात को लेकर कई तरह की अटकलें लगाई जा रही थी। लेकिन इसके बाद सांस्कृतिक कार्यक्रम में पीएम मोदी और शरीफ एक-दूसरे से काफी दूरी पर बैठे दिखाई दिए।

उधर, देश में हिंदूवादी भारत की बात शुरू हो गई है। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का मानना है कि भारत एक सज्जन देश है तो हिंदुओं की बदौलत। आरएसएस की तरफ से लंबे अरसे से कोशिश की जाती रही है कि बहुसंख्यकों की असुरक्षा की राजनीति को हिंदुओं की उभार की राजनीति में बदला जाए और वर्तमान परिदृश्य को देखते हुए कहा जा सकता है कि वो इसमें सफल भी हुई है। लेकिन एक कयास यह भी लगाया जा रहा है कि इस देश में बहस विकास की ना होकर राष्ट्रवाद की ओर मोड़ दी गई है।

शुक्रवार 9 जून को एपीएन न्यूज के विशेष कार्यक्रम मुद्दा में भारत-पाक प्रधानमंत्रियों के मुलाकात की अटकले और आरएसएस के हिंदुत्व राग पर विशेष चर्चा हुई। इस अहम मुद्दे पर चर्चा के लिए विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञ शामिल थे। इन लोगों में जे के त्रिपाठी (पूर्व राजनयिक), मेजर जन. (रि.) एस पी सिन्हा (रक्षा विशेषज्ञ), गोविंद पंत राजू (सलाहकार संपादक एपीएन), अरुण प्रकाश (प्रवक्ता यूपी कांग्रेस), अशोक सिंह (संघ विचारक) और नरेंद्र सिंह राणा (प्रवक्ता यूपी बीजेपी) शामिल थे। शो का संचालन एंकर हिमांशु दीक्षित ने किया।

जे के त्रिपाठी ने कहा कि यह मध्य एशिया के प्रधानमंत्रियों का एक शिखर सम्मेलन था। इसलिए भारत-पाक पीएम के आपसी मुलाकात को देखकर अलग-अलग कयास नहीं लगाया जा सकता। सम्मेलन का यह नियम है कि अगर कोई आपसी दुश्मन भी आपस में मिलते हैं तो फार्मल हैल्लो हाय करते हैं और यह इसका एक स्वरुप था।

मेजर जन. (रि.) एस पी सिन्हा ने कहा कि पीएम मोदी द्वारा नवाज के स्वास्थ की खैरियत पूछना पीएम के बड़प्पन, मर्यादा और तहजीब के साथ अन्य दो दिशाओं को दर्शाता है! पहला उनका शारीरिक स्वास्थ्य और दूसरा उनका राजनीतिक स्वास्थ्य। पाक आर्मी भारत-पाक रिश्ते के बीच उस घड़े की छेद की तरह है जिसमें जितना विश्वास का पानी डाले सब व्यर्थ हैं।

गोविंद पंत राजू ने कहा कि विश्व शांति को लेकर पाकिस्तान में कोई ऐसा नहीं है जो भारत की ओर हाथ बढ़ा सके क्योंकि पाकिस्तान में पाक सरकार पाक आर्मी के दम पर चलती है। शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन यानि SCO ने आतंक के खिलाफ एक नीति और संगठन बनाई है जो मध्य एशिया में आतंक के खिलाफ पैरवी करने की स्थिति में है।

अरुण प्रकाश ने कहा कि आतंक मानव मूल्यों का सबसे बड़ा दुश्मन है। जिस प्रकार पीएम मोदी पाक पीएम के पोती के निकाह में शरीक हुए और पाक द्वारा पीएम मोदी को उपहार स्वरुप पठानकोट एयरबेस पर आंतकी हमला मिला यह निंदनीय है। रही बात हिंदुत्व की तो बीजेपी और संघ किस हिंदू और राम राज्य की बात करती है, क्या दलित जाति के लोग हिंदू नहीं हैं?

नरेंद्र सिंह राणा ने कहा कि भारत-पाक के बीच वही तुलना है जो आकाश-पाताल के बीच है। मोदी को पीएम बने तीन साल पूरे हुए हैं लेकिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विकसित देश भारत को आज किस नजरों से देखते हैं इससे सभी अवगत हैं? रही बात भेद-भाव की तो क्या संघ ने कभी विभिन्न जातियों को लेकर ट्रेनों में सफर, शिक्षा, चिकित्सा इत्यादि को लेकर कभी भेदभाव किया, नहीं? बीते वर्षों में सुप्रीम कोर्ट ने हिंदुत्व पर टिप्पणी कर कहा,’हिंदुत्व किसी जाति विशेष से बंधकर रहे ऐसा नहीं है।’

अशोक सिंह ने कहा कि हिंदूत्व और भारत एक दूसरे के पूरक है। मुस्लिम देशों के मुताबिक भारतीय मुस्लिम जब हज करने जाते हैं तो वहां के लोग इन्हें हिन्दुत्व मुस्लिम के नाम से संबोधित करते हैं। संघ पर झूठे आरोप गांधी हत्याकांड से लेकर हिंदुत्व के भगवा स्वरुप तक लगते चले आ रहे हैं लेकिन इसका प्रमाण कुछ भी नहीं है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.