Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

सुप्रीम कोर्ट ने 3 साल पहले गैंगरेप के आरोपी गायत्री प्रजापति पर एफआईआर दर्ज कर खुद को सरेंडर करने को आदेश दिया था, जिसके बाद से लेकर अबतक गायत्री पुलिस और कोर्ट के नजरों से फरार चल रहे थे। वहीं बीजेपी सरकार के शपथ ग्रहण करने से पहले गायत्री को यूपी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जिसके बाद गायत्री खुद को बेगुनाह बताने में जुटे है।

वहीं दूसरी सवाल यह उठ रहे है कि क्या प्रचंड बहुमत से यूपी में सरकार बनाने जा रही भाजपा सरकार खुद को इस प्रक्रिया से दूर रख पाएंगी? हरदोई के सवाइजपुर विधानसभा क्षेत्र के बीजेपी MLA माधवेन्द्र सिंह रानू और शाहबाद थाने के अरविंद वर्मा के बीच हुए बातचीत की ऑडियो सामने आने के बाद बीजेपी विधायक को अपने बचाव में आना पड़ा। भले ही यूपी में सरकार केन्द्र की हो लेकिन सरकार को अखिलेश से कई सबक लेने होंगे।

एपीएन के खास शो मुद्दा में इन्हीं पहलुओं को लेकर चर्चा की गई कि “हर गायत्री से निपटेगी बीजेपी? और क्या यूपी में अब आएगा कानून का राज?” इसी पर चर्चा करने के लिए स्टूडियो में जगदेव सिंह यादव (प्रवक्ता, सपा), घरेंद्र भारद्वाज (नेता, कांग्रेस), के के शुक्ला (नेता, बीजेपी) और गोविंद पंत राजू  (सलाहकार संपादक, एपीएन) बतौर मेहमान मौजूद थे। शो का संचालन एंकर अभिलाषा ने किया।

जगदेव सिंह यादव ने कहा कि दोषी, अपराधियों को बचाने का कार्य कोई नहीं करेगा, यह सीएम अखिलेश भी चाहते है और हम भी! गायत्री की गिरफ्तारी अखिलेश के कार्यवाहक सीएम रहते तक हुई है। उन्होंने आगे बीजेपी कर कटाक्ष करते हुए कहा कि “सत्ता के नशे में चूर बीजेपी ने सबसे ज्यादा अपराधियों को टिकट दिया था। जिसकी शुरुवात अब ऑडियो  क्लिप के माध्यम से हो गई है।“

के के शुक्ला ने सपा प्रवक्ता पर तंज कसते हुए कहा कि “इन्होंने गायत्री प्रजापति को आज क्यों पकड़ा, इसके पहले क्यों नहीं?“ जगदेव सिंह अभी भी यहा बैठकर प्रजापति का बचाव कर रहे है। जो व्यक्ति BPL कार्ड होल्डर था, आज उसके पास करोड़ों की सम्पति कहा से आई इस पर जांच होना चाहिए। उन्होने बताया कि बीजेपी की सरकार में यूपी में कानून राज होगा और गुंडों में दहशत होगी। जनता ने बीजेपी को जो सम्मान, स्नेह और दायित्व दिया है, सरकार उनपर खरा उतरेंगी।

घरेंद्र भारद्वाज ने कहा कि कांग्रेस का सदैव मानन था कि समाज के दुश्मनों पर कड़ी कार्यवाही हो। गायत्री के केस में SC का जब आदेश आया था, तब सबसे पहले हमने कॉन्टिनेंट पार्टी होने के नाते जेल भेजने की डिमांड की थी। वह कोई नेता नहीं बल्कि अपराधी है। वहीं दूसरी तरफ उन्होंने कहा कि बीजेपी के करनी और कथनी में अन्तर है। चाहे वह संदिप सोम, सुरेश राणा, साक्षी महाराज आथवा अन्य कोई बीजेपी नेताओं ने जब भी गलत बयान दिए है, बीजेपी ने सदैव उनका सरक्षण दिया हैं।

गोविंद पंत राजू ने कहा कि गायत्री प्रजापति सपा सरकार में एक प्रकार से अपराधी, भ्रष्टाचार और बलात्कारी श्रेणी में एक तरह के प्रतिक थे। गौरतलब हो कि गायत्री मामले में मुलायम सिंह ने वरिष्ठ पुलिस को लताड़ा था। उन्होंने एक साल में कई बार त्यागपत्र और शपथपत्र लेकर रिकार्ड बनाया है। वहीं नए सरकार को लेकर उनका मत था कि यूपी के विकास को लेकर उनपर दबाव होगा अगर वह उम्मीद पर खरा नहीं उतरते है तो उसका परिणाम उन्हे लोकसभा चुनाव में भोगना पड़ेगा।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.