Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पूर्व प्रधानमंत्री ‘अटल बिहारी वाजपेयी’ के जन्मदिन के अवसर पर गरीबों के लिए ‘अटल जन आहार’ योजना की शुरुआत की गई। 25 दिसंबर के दिन देश के पूर्व और वर्तमान प्रधानमंत्री दोनों ने ही दिल्लीवासियों को क्रिसमस का तोहफा दिया। जहां एक ओर पीएम मोदी ने दिल्ली में मेजेंटा लाइन की शुरुआत करके क्रिसमस का तोहफा दिया तो वही दूसरी ओर अटल बिहारी वाजपेयी के 93वें जन्मदिन के अवसर पर गरीब और जरूरतमंदों के लिए तोहफें के रूप में दक्षिण दिल्ली नगर निगम एसडीएमसी द्वारा एक नई योजना की शुरुआत की गई। इस योजना के अंतर्गत गरीब लोग दिन में निकाय संस्था के स्टॉल से मात्र 10 रुपये में भरपेट खाना खा सकेंगे।

राशन कार्ड अनिवार्य

25 दिसंबर को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्मदिवस ‘सुशासन दिवस’ के रुप में मनाया गया। इसके साथ ही दिल्ली नगर निगम ने उनके जन्मदिन के अवसर पर ‘अटल जन आहार’ योजना की शुरुआत की। इस योजना की शुरुआत उत्तरी और दक्षिणी नगर निगम के स्टॉल से की गई। बता दे, बीजेपी ने इस साल नगर निगम चुनाव के दौरान इस योजना को शुरु करने का ऐलान किया था। योजना का लाभ सिर्फ राशन कार्ड दिखा कर ही लिया जा सकेगा। यानि 10 रुपए में भोजन सिर्फ बीपीएल राशन गार्ड धारकों को ही मिलेगा।

उत्तरी दिल्ली में गरीबों को 10 रुपये में भोजन उपलब्ध कराने की योजना का शुभारंभ भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम जाजू, महापौर प्रीति अग्रवाल और स्थायी समिति के अध्यक्ष तिलकराज कटारिया ने शालीमार बाग स्थित फूड स्टॉल से किया। कमलजीत ने बताया, चुनाव घोषणा पत्र में किए गये एक अहम वादे को सुशासन दिवस पर पूरा किया जा रहा है। प्रीति अग्रवाल ने कहा, शालीमार बाग स्थित यह फूड स्टॉल पायलट प्रोजेक्ट के तहत काम करेगा। भविष्य में सभी 104 वार्डों में इस तरह के स्टॉल खोले जाएंगे।

ये हैं मेनू

मेनू में पूरी, रोटी , राजमा-चावल, सब्जी, छोले और हलवा शामिल हैं। यह खाना रोजाना सुबह 11 बजे से लेकर दोपहर 2 बजे तक सिर्फ गरीबों को दिया जाएगा।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.