Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

मुकेश अंबानी ने अपने छोटे भाई और आरकॉम के चेयरमैन अनिल अंबानी को जेल की सजा से बचा लिया है। उन्होंने स्वीडिश कंपनी एरिक्सन के 458.77 करोड़ रुपये के बकाए का भुगतान कर दिया है। ये पैसे मुकेश अंबानी ने अनिल अंबानी को दिए हैं। दरअसल, एरिक्सन ने अनिल अंबानी पर 550 करोड़ रुपए नहीं देने पर कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया था।

बता दें कि शीर्ष अदालत ने 19 फरवरी को अपने आदेश में कहा था कि अनिल अंबानी को एक महीने के भीतर पूरी रकम चुकानी होगी, वरना उन्हें तीन महीने के लिए जेल भेज दिया जाएगा। टेलीकॉम उपकरण निर्माता स्वीडिश कंपनी एरिक्सन को 458.77 करोड़ रुपये के बकाए मामले में उन्हें दोषी पाया गया था।

जिसके बाद आरकॉम के चेयरमैन अनिल अंबानी ने अपने बड़े भाई मुकेश अंबानी, भाभी नीता अंबानी को धन्यवाद दिया। साथ ही उन्होने कहा, कि ऐसे मौके पर पारिवारिक मूल्यों के प्रति सच्चाई के साथ खड़े रहना कितना जरूरी है। अब मैं और मेरा परिवार बहुत खुश हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि अंबानी और अन्य को अवमानना से बचने के लिए एरिक्सन को चार सप्ताह में 453 करोड़ रुपये का भुगतान करना होगा। न्यायमूर्ति आरएफ नरीमन और न्यायमूर्ति विनीत शरण की पीठ ने कहा कि अगर वे निर्धारित समय में भुगतान नहीं करते तो उन्हें तीन महीने जेल की सजा भुगतनी पड़ेगी।

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने रिलायंस कम्युनिकेशंस के अध्यक्ष अनिल अंबानी को जानबूझ कर उसके आदेश का उल्लंघन करने और टेलीकॉम उपकरण बनाने वाली कंपनी एरिक्सन को 550 करोड़ रुपए बकाए का भुगतान नहीं करने पर अदालत की अवमानना का दोषी ठहराया। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि अंबानी, रिलायंस टेलीकॉम के अध्यक्ष सतीश सेठ और रिलायंस इंफ्राटेल की अध्यक्ष छाया विरानी ने न्यायालय में दिये गये आश्वासनों और इससे जुड़े आदेशों का उल्लंघन किया है।

वहीं एरिक्सन के प्रवक्ता ने कहा कि उनकी कंपनी को बकाए के रूप में शेष 458.77 करोड़ रुपये का भुगतान आरकॉम की ओर से किया जा चुका है। आरकॉम पर कुल 571 करोड़ का बकाया था, जिसमें से 550 करोड़ रुपये वनटाइम सेटलमेंट के और 21 करोड़ रुपये ब्याज के रूप में जुड़े थे। आरकॉम पहले ही एरिक्सन को 118 करोड़ रुपये का भुगतान कर चुकी थी।

साथ ही आपको बता दें, कि एरिक्सन से छुटकारा पाने वाले अनिल अंबानी की मुश्किलें अभी खत्म नहीं हुई हैं। सरकार टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल ने भी उनके खिलाफ NCLT जाने की तैयारी में है। बीएसएनएल का आरकॉम पर 700 करोड़ का बकाया है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.