Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

New Delhi: ऑटोमोबाइल क्षेत्र में चल रही मंदी थमने का नाम नहीं ले रही है। ऐसे में सामने आते आंकड़े इस स्थिति की गंभीरता को बयां करते हैं। यात्री वाहनों की बिक्री लगातार नौंवे महीने जुलाई में भी गिरी। जुलाई महीने में वाहनों की बिक्री में 30.98 प्रतिशत की गिरावट आई, जहां एक साल पहले इसी महीने में 2,90,931 वाहनों की बिक्री हुई थी वहीं इस साल ये बिक्री घटकर 2,00,790 रह गई।

मंगलवार को सोसाइटी ऑफ इंडियन मेन्यूफेक्चर्स ने इस बारे में आंकडे जारी किए। घरेलू बाजार में कारों की बिक्री में 35.95 प्रतिशत की गिरावट के साथ बिक्री 1,22,956 वाहनों पर सिमट कर रह गई वहीं जुलाई 2018 में ये बिक्री 1,91,979 थी।

इसी तरह की गिरावट मोटरसाइकिल में भी देखने को मिली। जुलाई महीने में बीते साल से मोटरसाइकिल की बिक्री में 18.88 प्रतिशत की गिरावट आई। जहां एक साल पहले मोटरसाइकिल की बिक्री 11,51,324 यूनिट थी वहीं इस साल जुलाई महीने में ये घटकर 9,33,996 हो गई।

इस साल जुलाई महीने में दोपहिया वाहनों की कुल बिक्री 15,11,692 रही ये बीते साल दोपहिया वाहनों की बिक्री से 16.82 प्रतिशत कम है बीते साल कुल बिक्री 18,17,406 थी।

ऐसी ही गिरावट वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री में भी रही। इस साल इनकी बिक्री में 25.71 प्रतिशत की गिरावट आई। जहां बीते वर्ष जुलाई महीने में ये आंकड़ा 76,545 यूनिट का था वहीं इस साल ये घट कर 56,866 रह गया। संगठन की माने तो सभी वाहनों की बिक्री में गिरावट देखी गई है।

मंदी के बीच ऑटोमोबाइल सेक्टर अपने सबसे कठिन दौर से गुजर रहा है। लेकिन इस सब के बावजूद भी ऑटो कंपोनेंट इंडस्ट्री बिना प्रमुख पदों पर नौकरियों में कटौती किए बिना हालातों से निपटने का किसी तरह से प्रबंधन कर रही है। लेकिन अगर हालात ऐसे ही बने रहते हैं तो 10 लाख नौकरियों में कटौती की जाएगी, ऐसा Component Manufacturers Association of India (ACMA) से जुड़े एक अधिकारी ने बीते दिनों कहा।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.