Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने 2018-19 की अपनी सालाना रिपोर्ट में कहा है कि वो नियमन के दायरे में आने वाली उन संस्थाओं के लिए एक साइबर सुरक्षा और अनुपालन रिपोर्टिंग प्रणाली बनाना चाहती है। जो साइबर सुरक्षा से संबंधित समस्याओं से निपटने के लिए सरकार के साथ अन्य राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय नियामकों का सहयोग करेंगी। इसके अलावा साइबर सुरक्षा की तैयारियों और बाजार बुनियादी संरचना संस्थानों (MII) की साइबर जोखिमों से निपटने की क्षमता का आकलन करने के लिए साइबर क्षमता सूचकांक भी तैयार किया जाएगा।

इसमें स्टॉक एक्सचेंज और क्लियरिंग कॉरपोरेशंस भी शामिल हैं। इस तरह के सूचकांक से ना केवल साइबर सुरक्षा कार्यान्वयन की निगरानी में सुधार होगा। बल्कि समय-समय पर सेबी की ओर से जारी दिशा-निर्देशों के कार्यान्वयन के स्तर को भी मापने में मदद मिलेगी।

सेबी ने सावाना रिपोर्ट में कहा है कि तीन-स्तरीय प्रणाली से साइबर सुरक्षा से संबंधित घटनाओं पर नजर रखने के साथ आवश्यक कार्रवाई भी जा सकेगी। इसके अलावा बाजार नियामक ने स्टॉक एक्सचेंज को उनकी क्षमताओं को बढ़ाने का सुझाव दिया है। सेबी के मुताबिक, वो कुशल, निष्पक्ष और पारदर्शी प्रतिभूति बाजार पारिस्थितिकी तंत्र को विकसित करने और बनाए रखने के लिए वित्तीय प्रोद्योगिकी के इस्तेमाल को प्रोत्साहित करेगा।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.