Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

New Delhi: अगस्ता वेस्टलैंड मामले में आरोपी क्रिश्चियन मिशेल ने अदालत में जमानत की याचिका डाली थी। एक विशेष अदालत ने अगस्ता वेस्टलैंड मामले में क्रिश्चियन मिशेल की जमानत याचिका पर केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से जवाब मांगा है। अब इस याचिका पर सुनवाई 19 अगस्त को होगी। क्रिश्चियन मिशेल प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा उसके खिलाफ दायर मामलों में नियमित जमानत चाहता है। मिशेल इस समय दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद है।

 क्रिश्चियन मिशेल को पिछले साल दिसंबर में दुबई से भारत लाया गया था। 1 जनवरी 2014 को भारत ने इटली की कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड से 12 हेलीकॉप्टर खरीदने का करार रद्द कर दिया था। कारण यह था कि इस सौदे में घोटाले का आरोप लगा था। सीबीआइ ने जांच के बाद पहला आरोप पत्र एक सितंबर 2017 को दाखिल किया गया था। सीबीआई ने वायु सेना के पूर्व प्रमुख एसपी त्यागी, पूर्व एयर मार्शल जेएस गुजराल सहित आठ को आरोपित बनाया था। सीबीआई जांच के बाद ईडी ने मनी लांड्रिंग एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था।

आपको बता दें कि अगस्ता वैस्ट लैंड हेलीकॉप्टर घोटाले में आरोपी मप्र के मुख्यमंत्री कमलनाथ भांजे रतुल पुरी की मुसीबतें भी बढ़ गई है। हाल ही में दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने बिज़नेस मैन रतुल पुरी के खिलाफ गैर-जमानती वारंट (NBW) जारी किया।

इस मामले पर ईडी के अधिकारियों का कहना है कि रातुल पुरी पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहे थे और ना ही किसी सवाल का संतोषजनक जवाब दे रहे थे। जिसके चलते उन्हें गिरफ्तार करने का फैसला किया गया।प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने अदालत से जांच में सहयोग नहीं करने पर व्यवसायी रतुल पुरी के खिलाफ गैर-जमानती वारंट (NBW) जारी करने की मांग की थी। रतुल पुरी ने जो गिरफ्तारी से बचने के लिए अग्रिम जमानत याचिका लगाई थी उसे सीबीआई की एक विशेष अदालत ने खारिज कर दिया था।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.