Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

रेप के मामले में देश की राजधानी दिल्ली वर्षों से बदनाम है और हो भी क्यों ना, आय दिन दिल्ली के किसी ना किसी इलाके से रेप की घटना सामने आती रहती है और दिल्ली बार-बार शर्मसार होती रहती है।

दिल्ली में रेप की दो नई वारदात हुई है। एक में नेशनल लेवल की कबड्डी खिलाड़ी के साथ कोच ने रेप की वारदात को अंजाम दिया तो दूसरे में 2 नाबालिग बच्चियों के साथ दरिंदों ने रेप कर उन्हें फेंक दिया।

दिल्ली में राष्ट्रीय स्तर पर कबड्डी खेलने वाली एक जूनियर खिलाड़ी ने कोच पर रेप का आरोप लगाया और कहा कि रेपिस्ट ने रेप की वारदात को बताने पर जान से मारने की धमकी भी दी है। पीड़िता के बयान पर मॉडल टाउन के थाने में पुलिस ने आरोपी कोच के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 और पोक्सो कानून के तहत मामला दर्ज कर लिया है। फिलहाल कोच फरार है लेकिन पुलिस की एक टीम आरोपी कोच की तलाश में जुटी है।

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि 9 जुलाई को वह दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में गई थी। वहां उसे एक आदमी मिला, उसने खुद को स्टेडियम का प्रशासक और कोच बताया। पीड़िता के अनुसार आरोपी कोच की उम्र करीब 30 साल होगी। कोच ने कबड्डी खिलाड़ी को घुमाने के बहाने अपनी गाड़ी में बैठा लिया। पीड़िता ने बताया कि कुछ दूर जाने के बाद कोच ने उसकी गर्दन पर जोर से एक घूसा मारा जिससे वह बेहोश हो गई। होश आया तो पीड़िता ने खुद को एक फ्लैट में पाया। उसके बाद पीड़िता के साथ आरोपी कोच ने रेप किया। पीड़िता फिर बेहोश हो गई। अगले दिन आरोपी ने पीड़िता को रास्ते में छोड़ दिया और वारदात के बारे में किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी भी दी।

इस वारदात के करीब एक सप्ताह बाद पीड़िता ने मॉडल टाउन थाने में शिकायत दर्ज करवाई। जिसके बाद पीड़िता का मेडिकल जांच कराया गया। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस केस दर्ज कर छानबिन में जुट गई है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि पीड़िता को आरोपी के बारे में कुछ खास जानकारी मालूम नहीं है। लिहाजा कोच की पहचान करने के लिए मंगलवार को छत्रसाल स्टेडियम का रोस्टर खंगाला जाएगा।

उधर दिल्ली के बवाना इलाके में रेप की एक और वारदात हुई जिसमें दरिंदों ने नाबालिग बच्चियों के साथ पहले रेप किया फिर उन्हें मरा हुआ समझकर झाड़ियों में फेंक दिया। बच्चियों को रात से खोज रहे उनके मां-बाप ने सुबह बच्चियों को झाड़ियों में लहूलुहान अवस्था में पाया। बच्चियों को अंबेडकर अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.