Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

विवादों से घिरी संजय लीला भंसाली की ‘पद्मावती’ से ‘पद्मावत’ हुई फिल्म की रिलीज को काफी हंगामें, विरोध और जद्दोजहद के बाद सुप्रीम कोर्ट से हरी झंडी मिल गई है। अब ये फिल्म 25 जनवरी को सभी राज्यों में रिलीज होगी। वहीं बीजेपी समर्थित 4 राज्यों में लगे फिल्म पर प्रतिबंध को भी सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है। बता दें कि 4 राज्यों मध्य प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान और गुजरात सरकारों ने इस फिल्म की रिलीज पर रोक लगा रखी थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने सरकारों के इस नोटिफिकेशन पर भी स्टे लगा दिया है।

चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस ए. एम. खानविलकर और जस्टिस धनंजय वाई चंद्रचूड़ की खंडपीठ ने फिल्म के निर्माता वायकॉम 18 और अन्य के वकील की इस दलील पर विचार किया कि इसका अखिल भारतीय प्रदर्शन 25 जनवरी को होने वाला है। ऐसी स्थिति में इस याचिका पर शीघ्र सुनवाई की आवश्यकता है।

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद इसका विरोध भी देखा गया। बीजेपी नेता सूरज पाल एमू ने फैसले पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा, ‘आज सुप्रीम कोर्ट ने लाखों-करोड़ो लोगों, लाखों-करोड़ हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है, जो कोर्ट का सम्‍मान करते हैं। हमारा संघर्ष जारी रहेगा चाहे मुझे फांसी लगा दो! ये फिल्‍म रिलीज होगी तो देश टूटेगा।’

Removed the ban on 'Padmavat', Still Karni Sena not supportहरियाणा के स्‍वास्‍थ्‍यमंत्री अनिल विज ने कहा, ‘हमारे पक्ष को सुने बिना सुप्रीम कोर्ट ने निर्णय दिया। सुप्रीम कोर्ट सुप्रीम है इसलिए हम इस फैसले का पालन करेंगे। साथ ही इसके खिलाफ हम याचिका डालने पर विचार करेंगे।’

मध्‍यप्रदेश के उज्‍जैन में राजपूत करणी सेना चीफ लोकेंद्र सिंह कालवी ने कहा, ‘पूरे देश के सामाजिक संगठनों से अपील करूंगा पद्मावती नहीं चलनी चाहिए। फिल्‍म हॉल पर जनता कर्फ्यू लगा दे।’

वहीं विरोध कर रहे एक प्रदर्शनकारी ने कोर्ट के फैसले पर क्रोध जाहिर करते हुए कहा, ‘ये अंतिम चेतावनी है उसको इस बार खामियाजा भुगतना पड़ेगा। महारानी पद्मावती हमारी आन बान शान की प्रतीक है और अगर छत्‍तीसगढ़ में फिल्‍म लगी तो इसका खामियाजा भुगतना होगा। जहां पद्मावत चलेगा वो सिनेमाघर जलेगा।’

यह फिल्म 13वीं सदी में मेवाड़ के महाराजा रतन सिंह और उनकी सेना तथा दिल्ली के सुलतान अलाउद्दीन खिलजी के बीच हुए ऐतिहासिक युद्ध पर आधारित है। इस फिल्म के सेट पर दो बार जयपुर और कोल्हापुर में तोड़फोड़ की गई और इसके निदेशक संजय लीला भंसाली के साथ करणी सेना के लोगों ने हाथापाई भी की थी। इस फिल्म का विरोध देशभर में किया गया है। यहां तक की फिल्म की एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण को उनकी नाक काटने तक की धमकी दी गई थी। इस फिल्म में दीपिका के साथ ही शाहिद कपूर और रणवीर सिंह ने भी अभिनय किया है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.