Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

काशी हिन्दू विश्वविद्यालय का 100वां दीक्षांत समारोह स्वतन्त्रता भवन में आयोजित हुआ। 100वें दीक्षांत समारोह में सर्वोच्च अंक पाने वाले 57 छात्र-छात्राओं को योग्यता का गोल्ड मेडल प्रदान किया गया। इस मौके पर मुख्य अतिथि वैज्ञानिक एवं नेशनल रिसर्च प्रोफेसर डॉ. रघुनाथ अनन्त मशेलकर ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि भविष्य में जिन क्षेत्रों में रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे उनके बारे में अभी सोचना होगा। मशेलकर जी ने दीक्षान्त भाषण दिया। कुलपति प्रोफेसर राकेश भटनागर जी ने समारोह की अध्यक्षता की।
बीएचयू का 100वॉ दीक्षांत समारोह।


उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को उसी के अनुरूप तैयारी भी करनी होगी। दीक्षांत समारेाह की अध्यक्षता बीएचयू के कुलपति प्रो. राकेश भटनागर ने की। दो सत्रों में आयोजित इस दीक्षांत में 22272 छात्र-छात्राओं को कुल 919 मेडल व पुरस्कार के साथ ही उपाधि व डिग्रियां प्रदान की गईं। स्वतंत्रता भवन सभागार में मुख्य समारोह संपन्न होने के बाद संकाय व संस्थान स्तर पर विद्यार्थियों को उपाधियां व मेडल बांटे गए।

स्वतंत्रता भवन सभागार में भारतीय शास्त्रीय संगीत के लब्ध प्रतिष्ठित पण्डित राजन मिश्रा व साजन मिश्रा को डीलिट (डॉक्टर ऑफ लिटरेचर) की उपाधि प्रदान की गई।

2017 के लिए 31 को छात्र छात्राओ को गोल्ड मेडल
दीक्षान्त समारोह में 2017 में श्रेष्ठ अंक प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को दीक्षान्त समारोह के मंच से 31 पदक प्रदान किए गए। इसके अन्तर्गत संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय के ज्ञानेश उपाध्याय को स्नातकोत्तर परीक्षा में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने पर चान्सलर्स पदक, स्वर्गीय महाराजा विभूति नारायण सिंह स्वर्ण पदक तथा बीएचयू पदक प्रदान किया गया। इसी संकाय के हरि नारायण पाठक को भी स्नातकोत्तर में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने पर चान्सलर्स पदक, स्वर्ण पदक तथा बीएचयू पदक दिया गया।

बीएचयू के १००वें दीक्षांत समारोह में प्रो. राकेश भटनागर, कुलपति ने उपाधि प्राप्त करने वाले सभी विद्यार्थियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं


2018 के लिए 26 को बीएचयू गोल्ड मेडल
संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय के छात्र प्रांजल मिश्रा को स्नातकोत्तर स्तर पर सर्वाधिक अंक प्राप्त करने पर चान्सलर्स पदक, स्वर्गीय महाराजा विभूति नारायण सिंह स्वर्ण पदक तथा बीएचयू पदक प्रदान किया गया। संगीत एवं मंच कला संकाय के छात्र प्रशांत मिश्रा को भी स्नातक स्तर पर सर्वाधिक अंक प्राप्ति पर उक्त तीनो पदकों से नवाजा गया। इसके अलावा संकाय स्तर पर 384 छात्र-छात्राओं को भी पदक दिए गए। 2017-18 में संयुक्त रुप से डी-लिट की 06 उपाधियां, पीएचडी की 1297 उपाधियां, एमफिल की 30 उपाधियां, स्नातकोत्तर की 9021 तथा स्नातक की 12041 उपाधियां प्रदान की गई।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.