Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) इन दिनों सुर्खियों में बनी रहती है। एएमयू में पहले जिन्ना विवाद को जमकर सियासत हुई तो अब इस यूनिवर्सिटी में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं पिछड़ा वर्ग के आरक्षण को लेकर हंगामा शुरु हो गया है। मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर खत लिखने वाले सांसद सतीश कुमार गौतम  ने एक बार फिर एएमयू वीसी को खत लिखा है।

सतीश ने खत लिखकर पूछा है, ‘उनके लोकसभा क्षेत्र में स्थित केंद्रीय विश्वविद्यालय में एससी, एसटी और ओबीसी के छात्रों को प्रवेश में आरक्षण क्यों नहीं दिया जा रहा है’।  उन्होंने सवाल करते हुए पूछा है, ‘एएमयू में वंचित वर्ग को आरक्षण के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन ने अब तक क्या कोशिशें की हैं’?MP Letter to VC

आपको बता दें कि यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने कुछ दिन पहले कन्नौज में मुस्लिम विश्‍वविद्यालयों में दलितों के लिए आरक्षण का मुद्दा उठाया था। उन्‍होंने कहा कि जो लोग दलितों के लिए चिंतित हैं, उन्‍हें इस मुद्दे को उठाना चाहिए। सीएम योगी ने सवाल किया था कि यदि बीएचयू में दलितों को आरक्षण दिया जा सकता है तो अल्‍पसंख्‍यकों द्वारा संचालित संस्‍थानों में क्‍यों नहीं.?

एससी, एसटी आयोग के अध्यक्ष डॉ. रामशंकर कठेरिया मंगलवार (3 जुलाई) को अलीगढ़ पहुंच रहे हैं। मिली जानकारी के अनुसार, इस मामले पर बातचीत के लिए एएमयू के अधिकारियों को भी बुलाया गया है। सर्किट हाउस में वो जिला एवं मंडल के अधिकारियों की मौजूदगी में एएमयू के अधिकारियों से बात करेंगे। आपको बता दें कि डॉ. रामशंकर कठेरिया दो बार आरक्षण एवं अल्पसंख्यक स्वरूप का मामला उठा चुके हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.