Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

दिल्ली मेट्रो में जनता की सुविधाओं के लिए एक और कोशिश को कामयाब किया गया है। आज दिल्ली मेट्रो की सबसे बड़ी 59 किलोमीटर की पिंक लाइन का एक हिस्सा आम जनता के लिए शुरु कर दिया जाएगा। इससे दिल्ली विश्वविद्यालय के नॉर्थ और साउथ कैंपस के छात्रों को सहूलियत मिलेगी।

फेस 3 में दिल्ली की सबसे लंबे मेट्रो कॉरिडोर ‘पिंक लाइन’ की शुरुआत आज होगी। पिंक लाइन का एक सेक्शन मजलिस पार्क से साउथ कैंपस बुधवार को खुल रहा है। इस सेक्शन को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी के साथ हरी झंडी दिखाएंगे।

मजलिस पार्क से शिव विहार तक इस पूरी लाइन की लंबाई 59 किलोमीटर होगी और ये लाइन रिंग रोड को कवर करेगी। लेकिन फिलहाल इसके एक हिस्से को आम जनता के लिए शुरू किया जा रहा है, जिसकी लंबाई 21.56 किलोमीटर है। इस दौरान 12 मेट्रो स्टेशन पड़ेंगे, जिनमें 8 एलिवेटेड हैं, जबकि 4 मेट्रो स्टेशन अंडरग्राउंड हैं।

 मेट्रो में कैमरे बेहद खास

मेट्रो अधिकारियों के मुताबिक, इस ट्रेन के कैमरे बेहद खास हैं। यह ट्रेन के अंदर की किसी भी तरह की तस्वीर को सीधे कंट्रोल रूम के बड़े स्क्रीन पर भेज सकेंगे। कंट्रोल रूम में बैठा शख्स सीधे ट्रेन के किसी भी कोच की लाइव तस्वीर देखने के साथ उसमें सवार यात्री की तस्वीर भी देख पाएगा। यात्री कंट्रोल रूम में बैठे व्यक्ति से सीधे बात भी कर पाएंगे। यह कैमरे वाई-फाई सेवा से जुड़े रहेंगे।

मेट्रो के अंदर 32 कैमरे

मेट्रो के मुताबिक, इस सेक्शन पर कुल 19 ट्रेनें चलेंगी, जिसमें कुल 722 ऐसे कैमरे लगाए गए हैं। प्रत्येक ट्रेन में कुल 38 कैमरे होंगे, जिसमें छह कैमरे ट्रेन के बाहर, तीन आगे और तीन पीछे लगे होंगे, जबकि 32 कैमरे मेट्रो ट्रेन के अंदर लगे होंगे।

6 कोच होंगे

प्रत्येक ट्रेन में छह कोच होंगे। इस लाइन पर कोच की संख्या न तो बढ़ाई जा सकेगी और न ही घटाई जा सकेगी

मेट्रो स्टेशन

इस लाइन में मजलिस पार्क, आजादपुर, शालीमार बाग, नेताजी सुभाष प्लेस, शकरपुर, पंजाबी बाग वेस्ट, ईएसआई हॉस्पिटल, राजौरी गार्डन, मायापुरी, नारायणा विहार, दिल्ली कैंट और दुर्गाबाई देशमुख साउथ कैंपस जैसे मेट्रो स्टेशन होंगे। इसमें तीन मेट्रो स्टेशन इंटरचेंज स्टेशन होंगे जो कि आजादपुर, नेताजी सुभाष प्लेस और राजौरी गार्डन में बनाए गए हैं।

इस रूट पर बिना ड्राइवर के चलेगी मेट्रो

दिल्ली मेट्रो के नए यूटीओ (चालक रहित ट्रेन संचालन) सिस्टम से ट्रेन को  इस कॉरिडोर पर चलाया जाएगा। शुरूआत में ट्रेन ऑपरेटर इन ट्रेनों को चलाएंगे लेकिन धीरे-धीरे इसे यूटीओ में शिफ्ट कर दिया जाएगा।

40 मिनट में होगी दूरी तय

नया कॉरिडोर पहली बार मेट्रो नेटवर्क के जरिए दिल्ली यूनिर्विसटी के नॉर्थ और साउथ कैंपस को जोड़ेगा। इन दोनों कैंपसों की दूरी को 40 मिनट में तय की जा सकेगी।  विश्वविद्यालय स्टेशन से दुर्गाबाई देशमुख साउथ कैंपस स्टेशन तक की टिकट 50 रुपये की होगी और मजलिस पार्क स्टेशन से साउथ कैंपस स्टेशन तक का टिकट 40 रुपए होगा।’’

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.