Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली नई सरकार में विदेश मंत्री बनने के बाद एस जयशंकर को गुजरात से राज्यसभा सदस्य बनाया जा सकता है। सोमवार को भाजपा सूत्रों ने यह जानकारी दी। जयशंकर फिलहाल सांसद नहीं हैं। नियम के मुताबिक, मंत्री पद की शपथ लेने के छह महीने के भीतर उन्हें लोकसभा या राज्यसभा का सदस्य बनना होगा।

अमित शाह और स्मृति की सीटें हुई खाली

गौरतलब है कि 2019 लोकसभा चुनाव में गृह मंत्री अमित शाह के गुजरात की गांधीनगर और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के अमेठी से चुनाव जीतने के बाद गुजरात में दो राज्यसभा सीटें खाली हुई हैं। ऐसे में अब जयशंकर को इन्हीं दो सीटों में से एक सीट पर बीजेपी उतारने का मन बना रही है। इसी तरह बिहार में भी केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के लोकसभा पहुंचने से राज्यसभा में उनकी सीट खाली हो गई है। उन्होंने पटना साहिब सीट पर कांग्रेस के शत्रुघ्न सिन्हा को हराया था।

एआईएडीएमके ने किया इनकार

वहीं सूत्रों ने बताया कि पहले बीजेपी ने तमिलनाडु में खाली हुई एक राज्यसभा सीट से जयशंकर को उतारने के लिए एआईएडीएमके से संपर्क किया था। लेकिन एआईएडीएमके ने इस सीट से जयशंकर को उतारने से साफ मना कर दिया।

पासवान को भी किया है वादा
वहीं लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष और एनडीए के घटक दल से राम विलास पासवान इन लोकसभा चुनावों में नहीं लड़े। ऐसे में बीजेपी ने उन्हें भी राज्यसभा की एक सीट देने का वादा कर रखा है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.