Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

गुजरात और हिमाचल चुनाव में मिली सफलता के बाद बीजेपी का विजयी रथ तेजी से आगे दौड़ रहा है। इस बार भाजपा का जादू उपचुनाव में भी देखने को मिला। चार राज्यों की पांच विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में बीजेपी तीन सीटें  जीतने में कामयाब रही जबकि तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे. जयललिता के निधन के बाद खाली हुई उनकी विधानसभा सीट पर एआईएडीएमके से दरकिनार किए गए टीटीवी दिनाकरन ने जीत दर्ज की है। बता दें कि  दिनाकरन एआईएडीएमके महासचिव और जयललिता की करीबी रहीं शशिकला के  भतीजे है। इस चुनाव में कांग्रेस को फिर से मुंह की खानी पड़ी क्योंकि  अरुणाचल प्रदेश की पाक्के कसांग और लिकाबली विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में बीजेपी ने जीत दर्ज करके दोनों सीटें कांग्रेस से हथिया ली।

उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात की सिकंदरा सीट पर भाजपा को जीत मिली है। इस सीट पर भाजपा प्रत्याशी अजीत पाल ने समाजवादी पार्टी की सीमा सचान को 14 हजार वोटों से मात दी है।  वहीं, पश्चिम बंगाल में सबांग सीट पर टीएमसी कैंडिडेट गीता रानी को जीत मिली।  पाक्के कसांग में पार्टी उम्मीदवार बियूराम वाघे ने कांग्रेस  उम्मीदवार और पूर्व उप-मुख्यमंत्री कामेन्ग डोलो को लगभग पांच सौ वोटों से हराया। लिकाबाली में भाजपा के कार्दो निक्योर ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी और पीपल्स पार्टी ऑफ अरुणाचल प्रदेश के गुमके रिबा को लगभग तीन सौ वोटों से पराजित किया।

पश्चिम बंगाल में जमीन तलाश रही बीजेपी को यहां फिर से झटका लगा है क्योंकि राज्य की सबांग सीट पर तृणमूल कांग्रेस की उम्मीदवार ने 64 हजार जैसे बड़े मार्जिन से जीत दर्ज की है। हालांकि अन्य राज्यों में बीजेपी कांग्रेस को पटखनी देने में कामयाब हुई है। ऐसे में कांग्रेस के लिए यह सोचने का विषय है कि अब आने वाले चुनावों में उसकी रणनीति क्या होगी क्योंकि बीजेपी आज की तारीख में 19 राज्यों पर कब्जा कर चुकी है वहीं कांग्रेस 4 राज्यों में सिमट कर रह गई है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.