Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

ब्राइटलैंड स्कूल में क्लास 1 के छात्र ऋतिक को चाकू मारने की घटना में नया मोड़ आ गया है। आरोपी छात्रा ने सोमवार को मीडिया के सामने खुद को बेकसूर बताया है। पीड़िता ने कहा कि मैं चाहती हो कि इस केस की सीबीआई जांच हो और असली आरोपी को सजा दी जाए।  वहीं, साथ में मौजूद उसके पिता ने स्कूल एडमिनिस्ट्रेशन पर साजिशन फंसाने का आरोप लगाया है। उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ से पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है।

लड़की ने कहा कि, उसने लड़के को चाकू नहीं मारा है। वह लड़के को जानती तक नहीं है, ना ही उसने कभी उसे देखा है। घटना वाली सुबह वह स्कूल की असेंबली में थी। उसे जानबूझकर फंसाया जा रहा है।

छात्रा ने पूरी घटना का वर्णन करते हुए बताया कि वह 16 जनवरी को सुबह 9.45 बजे कॉलेज पहुंची। क्लास में दो-तीन लड़के थे, इसलिए वह बाहर निकल आई। कुछ ही मिनट बाद उसकी दो फ्रेंड्स आ गईं और वह क्लास में आकर बैठ गई। इसी बीच असेंबली बेल बजने पर वह असेंबली एरिया में पहुंच गई। जहां प्रेयर के बाद वह सभी बच्चों के साथ क्लास पहुंची। दो पीरियड तक तो सबकुछ ठीक चला। तीसरे पीरियड में वह क्लास मेट्स के साथ कंप्यूटर लैब पहुंची। छात्रा ने बताया कि लैब में अभी 10 मिनट ही बीते थे कि इसी बीच बाहर से आवाज आई कि कोई बच्चा बाहर न निकले।

Brightland School case has come New turn, The accused has said innocent himselfछात्रा ने बताया कि हम लोग कुछ समझ पाते इससे पहले ही दो-दो बच्चों को बाहर निकालकर उनके ब्लेजर उतरवाकर चेकिंग की गई। इसके बाद फिर से बच्चों को क्लास में भेज दिया गया। इस दौरान किसी भी बच्चे को नहीं बताया गया कि आखिर बात क्या हुई है।

छात्रा ने बताया, उसके स्कूल से लौटने के बाद करीब शा 6 बजे स्कूल की टीचर सुनीता, दीपा चावला और आशा उसके घर पहुंची और उसे स्कूल ले गईं। जब छात्रा के पिता ने पूछा तो उन्होंने रुटीन बताया। छात्रा ने आगे बताया कि स्कूल पहुंचने पर प्रिंसिपल रीता मानस ने उससे पूछा कि क्या तुम ब्लू व्हेल गेम खेलती हो? तो जवाब में मेरे ‘नहीं’ जवाब देने पर कहा कि सीसीटीवी फुटेज में दिख रही लड़की उससे मेल खा रही है।

छात्रा ने बताया कि 17 जनवरी को तीन पीरियड तक पढ़ाई करने के बाद उसे तान्या मैम बुलाकर अपने साथ ले गईं। जहां एक रूम में सुनीता मैम ने उसके पूरे कपड़े उतरवाकर तलाशी ली। वह रोने लगी तो उसे वापस क्लास में भेज दिया गया। 10 मिनट बाद उसे फिर से लाइब्रेरी रूम में बुलाया गया। जहां उससे वह चाकू उठाकर टेबल पर रखने को कहा गया। इसके बाद छात्रा के 20-25 बाल तोड़ लिये गए।

पुलिस को घटनास्थल के आस-पास लगे कैमरों की फुटेज में कुछ नहीं मिला है। हालांकि, जब पुलिस ने बाकी फुटेज खंगाली तो हमलावर के हुलिए जैसी एक छात्रा नजर आई। एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि फुटेज बहुत स्पष्ट नहीं है, लिहाजा उसका स्केच बनवाया गया। स्केच और फुटेज दोनों छात्र को दिखाया गया है। उसने शक के घेरे में आई छात्रा को पहचान लिया। बताया जा रहा है कि आरोपी छात्रा छठवीं की हो सकती है । उसके बारे में जानकारी जुटा ली गई है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.