Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में पिछले साल 3 दिसंबर को गोकशी के शक में हुई हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या मामले में मुख्य आरोपी और बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हिंसा की घटना के एक महीने बाद वह पुलिस के शिकंजे में आया है। पुलिस ने बीती रात योगेश को गिरफ्तार किया।

भीड़ द्वारा हिंसा की इस घटना में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या कर दी गई थी। योगेश राज पर हिंसक भीड़ को भड़काने का आरोप है। बता दें कि योगेश राज बजरंग दल का जिला संयोजक है. हालांकि, पुलिस ने योगेश की गिरफ्तारी का खुलासा नहीं किया है। जानकारी के मुताबिक हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश की गिरफ्तारी पर एसएसपी प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकते हैं।

इससे पहले पुलिस ने नए साल के दिन 1 जनवरी को एक और आरोपी कलुआ को गिरफ्तार किया था। 3 दिसंबर को हुई बुलंदशहर हिंसा के सिलसिले में पुलिस ने अब तक 24 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं विशेष जांच दल (एसआईटी) अब भी हिंसा की घटना की जांच कर रही है।

योगेश राज ने जारी किया था वीडियो

गौरतलब है, घटना के दो दिन बाद ही 5 दिसंबर को योगेश राज वीडियो के जरिये सामने आकर अपनी बेगुनाही की सफाई दी थी। उसने ‘जय श्री राम’ के उद्बोधन के साथ वीडियो में कहा था, ‘जैसा कि आप लोग बुलंदशहर के स्याना में हुई गोकशी प्रकरण को देख रहे होंगे, इसमें पुलिस मुझे इस प्रकार प्रस्तुत कर रही हो जैसे कि मेरा बहुत बड़ा आपराधिक इतिहास हो।’

योगेश राज ने वीडियो में कहा था, ‘मैं आप सब लोगों को बताना चाहता हूं कि उस दिन दो घटनाएं घटित हुई थी। पहली घटना स्याना के नजदीक गांव महाब में गोकशी की हुई थी जिसकी सूचना पाकर मैं अपने साथियों सहित मौके पर पहुंचा था। प्रशासनिक लोग भी वहां पहुंचे थे और मामले को शांत करके हम सभी साथियों सहित स्याना थाने में मुकदमा दर्ज कराने थाने पहुंचा था।’

उसने बताया था कि, ‘थाने में बैठे-बैठे जानकारी मिली कि उक्त स्थल पर ग्रामीणों ने पथराव किया है और वहां पर फायरिंग भी हुई है जिसमें एक युवक को गोली लगी है और एक पुलिसवाले को भी गोली लगी है। जब हमारी मांग पूर्ण कर स्याना थाने में मुकदमा लिखा जा रहा था तो बजरंग दल कोई आंदोलन प्रदर्शन क्यों करता?’ योगेश ने कहा था, ‘मैं दूसरी घटना में उक्त स्थान पर मौजूद नहीं था। मेरा दूसरी घटना से कोई लेना-देना नहीं है. ईश्वर मुझे न्याय दिलाएंगे मुझे ऐसा भगवान पर पूर्ण भरोसा है। धन्यवाद।’

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.