Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

उत्तर प्रदेश के बहुचर्चित उन्नाव रेपकांड में सीबीआई ने पीड़िता के पिता के हत्या मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस के 2 अधिकारियों को गिरफ़्तार कर लिया है। इस बारे में सीबीआई ने बताया, कि हत्या में शामिल माखी थाने के तत्कालीन सब इन्स्पेक्टर अशोक सिंह भदौरिया और तत्कालीन एसओ कामता प्रसाद सिंह को गिरफ्तार किया गया है। बताया जा रहा है कि दोनों को पीड़िता के पिता को गलत तरीके से गिरफ्तार करने और हत्या की साजिश के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। दोनों की गिरफ्तारी के बाद उम्मीद जताई जा रही है कि उन्नाव जिले के कुछ बड़े अधिकारियों पर भी कार्रवाई हो सकती है।

बता दें कि इन दोनों पर भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के दबाव में आकर पीड़िता के पिता के खिलाफ आर्म्स एक्ट के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत कर उस समय जेल भेजने का आरोप है जब वह मारपीट की घटना में गंभीर रूप से घायल हो चुका था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़िता के पिता की सदमे और सेप्टिसिमीया के कारण मौत हुई थी। यह भी कहा गया है कि निचली आंत में चोट के कारण और समय पर उचित उपचार की कमी के कारण उनकी मौत हुई थी।

बताया जा रहा है कि अशोक सिंह भदौरिया और कामता प्रसाद सिंह को आईपीसी की धारा 120 बी, 193, 201 और 218 में और 3/25 शस्त्र अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है। पहले इन दोनों को पूछताछ के लिए ले जाया गया था, जिसके बाद गिरफ्तार कर लिया गया।

यह भी पढ़ें: सुलझी उन्नाव गैंगरेप गुत्थी, CBI ने की विधायक सेंगर पर लगे रेप के आरोपों की पुष्टि

विदित है कि सीबीआई बलात्कार और पीड़ित के पिता की हत्या के आरोप में भारतीय जनता पार्टी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उनके भाई अतुल सेंगर, विधायक की सहयोगी शशि सिंह समेत 8 आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। बता दें इस मामले में अगली सुनवाई 21 मई को होगी।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.