Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

विवाद में घिरी सीबीआई अब दफ्तर में स्वस्थ्य माहौल बनाने के लिए वर्कशॉप आयोजित कर रही है। सीबीआई के 150 अधिकारी श्रीश्री रविशंकर की संस्था ‘आर्ट ऑफ लिविंग’ वर्कशॉप में शामिल होंगे। सीबीआई की तरफ से कहा गया है, ‘तालमेल बढ़ाने, और सकारात्मक दृष्टिकोण विकसित करने के लिए तीन दिन की वर्कशॉप का आयोजन किया जा रहा है। यह कार्यक्रम श्री श्री की संस्था आर्ट ऑफ लिविंग कराएगी।’

सीबीआई ने कहा, ’10, 11 और 12 नवंबर को वर्कशॉप आयोजित की जाएगी। इसमें अधिकारियों को स्वस्थ्य माहौल बनाकर काम करने के लिए प्रेरित किया जाएगा। इसमें 150 से ज्यादा अधिकारी हिस्सा लेंगे जिसमें इंस्पेक्टर से लेकर इनचार्ज डायरेक्टर सीबीआई तक शामिल होंगे। कार्यक्रम का आयोजन नई दिल्ली स्थित मुख्यालय में होगा।’

बता दें कि पिछले कुछ दिनों से सीबीआई आंतरिक भ्रष्टाचार के मामले से जूझ रही है। यह सब बड़े नाटकीय अंदाज में हुआ। सीबीआई में नंबर टू राकेश अस्थाना के बॉस आलोक वर्मा के खिलाफ सीवीसी से भ्रष्टाचार की शिकायत, फिर अस्थाना के खिलाफ रिश्वतखोरी और उगाही के आरोपों में सीबीआई की एफआईआर, अस्थाना का इसके खिलाफ कोर्ट जाना और आखिर में सरकार का सीधा दखल। सरकार ने दोनों शीर्ष अफसरों को छुट्टी पर भेजकर महकमे में वरिष्ठता क्रम में नीचे के अफसर एम. नागेश्वर राव को अंतरिम डायरेक्टर की जिम्मेदारी दी है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मामले की जांच सीवीसी कर रही है।

वही वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने सीबीआई के इस आयोजन की कड़ी आलोचना की है। भूषण ने एक ट्वीट में लिखा, ‘डायरेक्टर पद से आलोक वर्मा को हटाने और दागदार अधिकारी नागेश्वर राव को डायरेक्टर बनाने के बाद सीबीआई श्री श्री के तत्वावधान में एक वर्कशॉप कराने जा रही है। इसका मकसद सीबीआई से नकारात्मक ऊर्जा निकाल कर सकारात्मक ऊर्जा भरना है। वो दिन बहुत दिन नहीं जब सीबीआई में हम तांत्रिक, ज्योतिष और सपेरे देखेंगे।’ बता दें कि प्रशांत भूषण सीबीआई में जारी विवाद पर लगातार मोदी सरकार को घेर रहे हैं।

Also Read:

 

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.