Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने सोमवार को एनडीटीवी के सह-संस्थापक और कार्यकारी अध्यक्ष प्रणय रॉय के आवास पर छापेमारी की है। सीबीआई ने रॉय के ग्रेटर कैलाश-1 स्थित आवास पर छापेमारी की। इस दौरान सीबीआई ने उनके और उनकी पत्नी राधिका रॉय के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। जांच एजेंसी ने कथित तौर पर बैंक के साथ धोखाधड़ी का मामला भी दर्ज किया।

ndtv Pannov Royसीबीआई ने प्रणय रॉय और राधिका रॉय के अलावा एक निजी कंपनी एवं अन्य के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है। सरकार ने इसे बिना भेदभाव के सामान्य कानूनी कार्रवाई बताया। जबकि छापेमारी के बाद एनडीटीवी ने अपनी वेबसाइट पर आधिकारिक बयान जारी किया। चैनल कहा कि आज सुबह सीबीआई ने एनडीटीवी और उसके प्रोमोटरों पर पुराने अंतहीन झूठे आरोपों को लेकर उत्पीड़न किया।

एनडीटीवी और इसके प्रमोटर इसके खिलाफ संघर्ष करेंगे। हम लोकतंत्र में फ्री स्पीच को कमजोर करने के प्रयासो को बिल्कुल नहीं सहेंगे। चैनल ने बयान में आगे कहा कि हमारे पास उन लोगों के लिए संदेश है जो भारत के संस्थानों को नष्ट करने की कोशिश कर रहे हैं। हम अपने देश के लिए लड़ेंगे।

इस मामले पर भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा ‘कानून का डर जरूरी है। यह सभी पर लागू होना चाहिए, इससे फर्क नहीं पड़ता आप कौन हैं।’

बता दें कि स्वामी ने साल 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर एनडीटीवी पर मनी लॉन्डरिंग के आरोप लगाए थे। उन्होंने पीएम मोदी से अपील की थी कि भ्रष्टाचार रोकथाम अधिनियम के तहत सीबीआई को एनडीटीवी के खिलाफ केस दर्ज करने के निर्देश दिए जाएं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एनडीटीवी के संस्थापक और जाने-माने पत्रकार प्रणय राय के घर आज पड़े सीबीआई छापे की निंदा की है।

केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि हम एनडीटीवी समूह और डाक्टर राय के यहां छापे का विरोध करते हैं।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट कर कहा कि डाक्टर प्रणव राय के घर पर सीबीआई छापे की खबर से हैरान हूं। वह एक सम्मानित और अच्छी छवि वाले व्यक्ति हैं।

विरोध और समर्थन के बीच सूचना एवं प्रसारण मंत्री एम वेंकैया नायडू ने कहा कि एनडीटीवी के संस्थापक प्रणय रॉय की संपत्तियों पर सीबीआई के छापे कोई राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं है और कानून अपना काम कर रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि देश में मीडिया स्वतंत्र एवं आजाद है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.