Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

बिहार के पूर्व सीएम और राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें फिर बढ़ गई है। लालू यादव पर अब आरोप है कि उनके रेल मंत्री रहने के दौरान राजस्थान में 276 लोग बिना परीक्षा और इंटरव्यू के रेलवे में भर्ती हुए थे और इनमें से 111 लोग बिहार के थे। बताया जा रहा है ये मामला साल 2004-2009 के बीच का है जब लालू यादव रेल मंत्री थे।

अब सीबीआई इन कथित अवैध भर्तियों की जांच कर रही है। सीबीआई ने उत्तर-पश्चिम रेलवे जोन से इन 276 कर्मचारियों का पूरा ब्योरा मांगा है। संभावना है कि कर्मचारियों की पूरी पड़ताल के बाद लालू की भूमिका की भी जांची की जाएगी। दरअसल बीते दिनों लालू के कार्यकाल में हुई इन 276 नियुक्तियों के खिलाफ एक शिकायत दर्ज की गई थी।

सीबीआई ने इसके आधार पर जांच शुरू किया जिसमें पता चला कि उपयुक्त कर्मचारियों को जोधपुर, जयपुर, बीकानेर और अजमेर मंडल में नियुक्त किया गया था। अब उत्तर-पश्चिम रेलवे जोन की कार्मिक अधिकारी डॉ. हिना अरोड़ा ने चारों मंडल रेल प्रबंधक से उन कर्मचारियों के मौजूदा पोस्टिंग की सूची मांगी है। यह जानकारियां सीबीआई की जांच के लिए मांगी गई हैं।

इन नियुक्तियों में सबसे खास बात यह है की नियुक्त कर्मचारियों में से 111 लोग बिहार के हैं। वहीं उत्तर प्रदेश के 16, दिल्ली के 11, हरियाणा के 9, राजस्थान के 116 और अन्य राज्यों के 13 लोग शामिल हैं। इसके अलावा 2007-08 में भी ऐसे ही 130 लोगों की नियुक्ति की गई थी, जिनमें से 95 लोग केवल बिहार के थे। ऐसे में लालू यादव पर एक और खतरा मंडराता हुआ नजर आ रहा है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.