Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

कश्मीर के हालात दिन पर दिन और बिगड़ते जा रहे हैं तो वहीं अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले के बाद जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती पहली बार दिल्ली आई हैं। वह यहां कश्मीर के हालात को देखते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिलने आई हैं। इस मुलाकात के बाद मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में मुफ्ती ने कहा कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 नहीं हटेगी। इतना ही नहीं उन्होंने कश्मीर में तनाव के पीछे चीन का हाथ बताया है। साथ ही उन्होंने कहा कि कश्मीर में बाहर से आतंकी आ रहे हैं।

करीब डेढ़ घंटे तक चली मुलाकात में घाटी के हालात और उससे निपटने के कदम पर चर्चा हुई। अमरनाथ हमले के बाद केंद्र सरकार ने मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती की सराहना करते हुए कहा था कि उन्होंने हालात को अच्छी तरह संभाला और जरूरतमंदों तक मदद पहुंचाई है।

गौरतलब है कि इस बैठक में गृहमंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, रक्षा मंत्री अरुण जेटली, एनएसए अजीत डोभाल और विदेश सचिव एस जयशंकर शामिल थे। डोकलाम में चीनी घुसपैठ पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ विदेश सचिव एस जयशंकर ने सड़क निर्माण के जरिए चीन के इरादों की जानकारी दी।

बता दें कि इससे पहले कश्मीर के हालात को लेकर कई अहम बैठकें हो चुकी हैं जिसमें सुरक्षा बलों के बेहतर तालमेल के साथ अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा और पुख्ता करने का फैसला किया गया है। तो वहीं यह मुलाकात पीडीपी भाजपा गठबंधन को और मजबूत करने का कदम माना जा रहा है।

अमरनाथ हमले के बारे में सीएम का कहना था कि ये हमला माहौल को और खराब करने के लिए किया गया था। लेकिन वो पूरे मुल्क, सभी पार्टी और खासकर गृहमंत्री का साथ जो उन्हें मिला वो उनकी शुक्रगुजार हैं। सीएम ने अनुच्छेद 370 बनाये रखने की वकालत करते हुए  कहा कि ये कश्मीरियों के भावना से जुड़ा है। राष्ट्रपति ने भी अपनी अधिसूचना में माना है कि इसे कोई खत्म नहीं कर सकता है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.