Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप केस में अब तक चुप्पी साधे हुए थे लकिन आखिरकार उन्होंने अपनी चुप्पी तोड़ी है। नीतीश कुमार ने कहा है कि मुजफ्फरपुर में ऐसी घटना घट गई कि हम शर्मसार हो गए। नीतीश ने कहा, ‘सीबीआई जांच कर रही है। हाई कोर्ट इसकी मॉनिटरिंग करे।’ बिहार सीएम ने आश्वस्त किया है कि इस मामले में किसी के साथ कोई ढिलाई या लापरवाही नहीं बरती जाएगी और जो भी दोषी पाया जाएगा उसे कड़ी सजा मिलेगी।’

बता दें कि मुजफ्फरपुर के इस जघन्य कांड में आरजेडी, कांग्रेस और लेफ्ट पार्टियों ने नीतीश सरकार को घेर रखा है और नीतीश कुमार पर लगातार इस्तीफा देने का दबाव बनाया जा रहा है। आरजेडी नेता और बिहार के पूर्व डेप्युटी सीएम तेजस्वी यादव ने इस मामले पर राजनीतिक लड़ाई तेज कर रखी है। तेजस्वी यादव शनिवार को जंतर-मंतर पर धरना देने जा रहे हैं। तेजस्वी ने इस धरने में दूसरे लोगों से भी शामिल होने की अपील की है। ऐसा माना जा रहा है कि इस धरने में कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और टीएमसी समेत दूसरी विपक्षी पार्टियां भी शामिल हो सकती हैं।

गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर में बेसहारा लड़कियों के लिए बने आश्रय गृह में 34 नाबालिग लड़कियों का रेप किया गया है। इसमें तीन बच्चियों की मौत की बात भी कही जा रही है। इस बालिका गृह का संचालन ब्रजेश ठाकुर का एनजीओ करता है। ठाकुर एक छोटा सा अखबार ‘प्रात:कमल’ चलाता है। इस घटना के बाद विपक्ष नीतीश सरकार पर हमलावर रुख अपनाए हुए है।

उधर, सर्वोच्च न्यायालय ने गुरुवार को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के आश्रय गृह में नाबालिग दुष्कर्म पीड़िताओं की तस्वीरों व विडियो प्रसारित करने पर रोक लगा दिया है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.