Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बुधवार रात आए आंधी-तूफान ने एक बार फिर कहर बरपाया है। उत्तर प्रदेश में आए आंधी-तूफान ने कई लोगों की जान लेली। इस तूफान ने सभी का जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया। आंधी-तूफान में मारे गए लोगों के प्रति मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुख व्यक्त किया है। साथ ही उन्होंने आंधी-तूफान से प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्य युद्धस्तर पर संचालित करने के निर्देश दिए हैं।

सीएम ने आपदा प्रभावित जनपदों के प्रभारी मंत्रियों से अपेक्षा की है कि वे अविलम्ब संबंधित जिले में पहुंचकर पीड़ितों को हर सम्भव सहायता उपलब्ध कराएं। सीएम योगी ने जिलाधिकारियों को राहत और पुनर्वास कार्यों के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि तूफान से हुए नुकसान का आंकलन करते हुए क्षतिग्रस्त अवस्थापना सुविधाओं की मरम्मत का कार्य जल्द शुरु किया जाए। उन्होंने कहा कि पीड़ितों को सहायता प्रदान करने के कार्य में शिथिलता अथवा उदासीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

बता दें पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बुधवार रात आए आंधी-तूफान ने भारी तबाही मचाई। आगरा, मथुरा, इटावा, फिरोजाबाद समेत अन्य जिलों में अंधड़ और बारिश की वजह से 14 लोगों की मौत हो गई जबकि 15 लोग घायल हुए हैं। इटावा में चार, मथुरा में तीन, आगरा, कानपुर में दो-दो, अलीगढ़, हाथरस और फिरोजाबाद में एक-एक की जान चली गई। हालांकि, शासन ने 11 लोगों के मरने और 11 के घायल होने की पुष्टि की है।

आगरा में आंधी की रफ़्तार 68 किमी प्रति घंटे रही। यहां एत्मादपुर में मकान गिरने से दो की मौत हो गई जबकि खंदौली क्षेत्र में तीन बच्चे घायल हो गए। वहीं राजधानी लखनऊ में भी रात 10 बजे के करीब 26 किलोमीटर प्रति घंटे के रफ़्तार से हवाएं चलीं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.