Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

किसानों को राहत देने के लिए भले ही सरकार ने कई योजनाएं चलाई हो, लेकिन इन योजनाओं का लाभ किसानों से ज्यादा कंपनियां को मिला है। बात करें प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की तो इससे किसान तो नहीं बल्कि कंपनियां मालामाल हुई है। एक आरटीआई रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि सरकारी क्षेत्र की एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी ऑफ इंडिया के अलावा कुल दस निजी बीमा कंपनियों ने योजना से दो साल में कुल 15,795 करोड़ रुपये कमाए हैं।

बता दें कि देश में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को दो बरसों में 85 लाख किसानों ने छोड़ा है। इसमें से 68 लाख किसान केवल चार राज्यों के हैं। पानीपत के आरटीआई एक्टिविस्ट पीपी कपूर की ओर से आरटीआई के तहत ली गई जानकारी में यह चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। केंद्रीय कृषि मंत्रालय ने कपूर को आरटीआई के तहत देश के अनेक राज्यों की सूचना मुहैया कराई है।

कपूर ने आरटीआई के तहत मिली जानकारी के अनुसार बताया कि सरकारी क्षेत्र की एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी ऑफ इंडिया के अलावा कुल दस निजी बीमा कंपनियों ने योजना से दो साल में कुल 15,795 करोड़ रुपये कमाए हैं। चार बड़े राज्यों मध्य प्रदेश (2.90 लाख), राजस्थान (31.25 लाख), महाराष्ट्र (19.47 लाख) व उत्तर प्रदेश में (14.69) लाख किसानों का योजना से मोहभंग हुआ है।

वर्ष 2016-17 में बीमा कंपनियों की औसत कमाई प्रतिमाह 538.30 करोड़ रुपये प्रति माह रही तो वर्ष 2017-18 में यह औसत कमाई बढ़कर 778 करोड़ रुपये प्रतिमाह हो गई। वर्ष 2016-17 में 5.72 करोड़ कुल किसान बीमाकृत किए गए तो वर्ष 2017-18 में इनकी संख्या 85 लाख घटकर 4.87 करोड़ रह गई। बीमा कंपनियों को वर्ष 2016-17 में वार्षिक मुनाफा कुल 6459.64 करोड़ रुपये हुआ तो वर्ष 2017-18 में बीमा कंपनियों के इस मुनाफे में 150 प्रतिशत की वृद्धि होकर यह राशि 9335.62 करोड़ रुपये तक जा पहुंची।

आरटीआई एक्टिविस्ट पीपी कपूर ने आरोप लगाया कि फसल बीमा योजना एक घोटाला है। किसानों के नाम पर निजी बीमा कंपनियों की तिजोरियां भरी जा रही हैं। यह राशि निजी बीमा कंपनियों के बजाए सीधे किसानों को दी जाती तो किसानों की स्थिति में सुधार होता। 12 सितंबर की उनकी आरटीआई के जवाब में बीते 14 अक्टूबर को भेजे पत्र के जरिए कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय भारत सरकार की अधिकारी कामना आर शर्मा ने सूचना मुहैया कराई है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.