Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस ने बिलासपुर में पार्टी कार्यालय में घुसकर पुलिस द्वारा कार्यकर्ताओं की पिटाई के विरोध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 22 सितम्बर को राज्य के जांजगीर चापा में आयोजित कार्यक्रम के विरोध का ऐलान किया है।

पार्टी के छत्तीसगढ़ प्रभारी सासंद पी.एस.पुनिया ने आज यहां नवगठित प्रदेश कांग्रेस की कार्यकारिणी के पहली बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस भवन में पुलिस ने जिस तरह से घुसकर कांग्रेसियों की पिटाई की,ऐसी बर्बरता अंग्रेजो की हुकूमत में भी नही हुई।उन्होने कहा कि बिलासपुर शहर में हर जगह कचरा फैला है,मंत्री एवं स्थानीय विधायक अमर अग्रवाल कचरे के शौकीन है इस कारण कांग्रेसियों ने उनके घर जाकर कचरा भेंट किया था।

प्रदेश कांग्रेस की पहली कार्यकारिणी के बैठक राजधानी रायपुर में पहले होनी तय़ थी लेकिन कल आनन फानन में इसका स्थान बदल कर बिलासपुर किया गया।प्रदेश प्रभारी पुनिया कल रात ही बिलासपुर पहुंच गए थे जबकि कल दिन में ही राज्य के प्रभारी सचिव चंदन यादव ने पहुंचकर पिटाई की घटना के विरोध में थाने के घेराव की अगुवाई की थी।

श्री पुनिया ने मुख्यमंत्री की मजिस्ट्रीरियल जांच एवं एएसपी को हटाने को केवल दिखावा करार देते हुए कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बर्बरतापूर्ण ढ़ग से पिटाई का आदेश जहां से निकला वहां तक कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का कांग्रेसी काले झंडे से स्वागत होगा और यह सिलसिला आगामी कार्यक्रमों में भी तब तक जारी रहेगा जब तक पार्टी की मांगे पूरी नही होती।

श्री पुनिया ने पार्टी कार्यकर्ताओं से आगामी चुनावों में पूरी ताकत से जुटने का आह्वान करते हुए कहा कि अगर पुलिस के डंडे से बचना है,तो कांग्रेस को सत्ता में लाना होगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि झीरम घाटी में 2013 में कांग्रेस नेताओं पर हमले के बाद रमन सरकार का हौसला बढ़ गया है इस कारण ही कांग्रेस कार्यालय में घुसकर इस तरह के हमले किए गए।

उन्होने कहा कि कांग्रेस कार्यालय में घुसना मतलब हम अपने घर में भी सुरक्षित नही है। प्रदेश कांग्रेस के चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष डा.चरणदास महंत ने कहा कि बिलासपुर में षडयंत्र की राजनीति हो रही है। उन्होने कहा कि बिलासपुर की घटना का सही मायने में बदला 2018 में कांग्रेस की सरकार बनने पर ही लिया जायेंगा। उन्होने कहा कि 2013 में जहां पर कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा पर हमला हुआ था,दूसरे चरण की परिवर्तन यात्रा की शुरूआत वहीं से होंगी।

बैठक में कांग्रेस कार्यालय में घुसकर पार्टीजनों को मारने की घटना के विरोध में निन्दा प्रस्ताव पारित किया गया। बैठक में एक अन्य प्रस्ताव में मंत्री अमर अग्रवाल की बर्खास्तगी,दोषी अधिकारियों पर मुकदमा दर्ज किए जाने और घटना की न्यायिक जांच की मांग की गई।

इससे पूर्व श्री पुनिया,प्रदेश अध्यक्ष बघेल,विधायक दल के नेता सिंहदेव,प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष महंत एवं पार्टी के राष्ट्रीय सचिव चंदन यादव ने अपोलो अस्पताल एवं बिलासपुर आयुर्विज्ञान संस्थान(सिम्स)में जाकर पुलिस की पिटाई से घायल हुए पार्टी नेताओं कार्यकर्ताओं से भेंट की और उनके स्वास्थ्य का हाल जाना।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.