Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने आज कहा कि राफेल विमान सौदे को लेकर उच्चतम न्यायालय के फैसले से यह स्पष्ट हो गया है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस पर झूठ की इमारत खड़ी कर देश की जनता को गुमराह किया है और ऐसे में उन्हें नैतिकता के आधार पर अध्यक्ष पद के साथ ही संसद की सदस्यता से इस्तीफा दे देना चाहिए। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता मौर्य ने यहां पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राफेल सौदा मामले में उच्चतम न्यायालय के फैसले से स्पष्ट हो गया है कि कांग्रेस पार्टी और उसके अध्यक्ष गांधी झूठ का प्रचार कर रहे हैं। देश की जनता को गुमराह किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की झूठ बोलने की पुरानी आदत है और वह झूठ बोलने की ऑटोमेटिक मशीन है।

मौर्य ने कहा कि इस मामले पर कांग्रेस ने देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर सेना के मनोबल को तोड़ने का काम किया है। उच्चतम न्यायालय के राफेल सौदा मामले में निर्णय के बाद कांग्रेस को करारा तमाचा लगा है। इस निर्णय से दूध का दूध और पानी का पानी हो गया है। अब इस पर और बोलने की गुंजाइश नहीं रह गयी है।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने राफेल सौदे को लेकर बेदाग छवि के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर आरोप लगाया था। भाजपा एवं श्री मोदी के लिए पहले देश और फिर दल इसके बाद व्यक्ति है लेकिन कांग्रेस के लिए पहले व्यक्ति फिर दल है। उन्होंने कहा कि देश को कांग्रेस ने नुकसान पहुंचाया है। कांग्रेस का रक्षा सौदा घोटाला से पुराना संबंध रहा है।

मौर्य ने कहा कि कांग्रेस का घोटाले के साथ आकाश से पाताल तक का संबंध रहा है। जैसा कांग्रेस पार्टी का चरित्र है वैसा ही भाजपा पर आरोप लगा रही है। उच्चतम न्यायालय ने अपने फैसले में राफेल सौदे को अनावश्यक बताया और साथ ही यह भी कहा कि इसमें गड़बड़ी नहीं हुयी है। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस को न तो लोकतंत्र, उच्चतम न्यायालय और न ही किसी संवैधानिक संस्था में विश्वास है इसलिए वह ऐसी संस्थाओं को भी गलत बताती है।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी ने राफेल का सौदा देश की सुरक्षा और सेना की ताकत को जरूरी मानते हुए किया था। कांग्रेस पार्टी इस पर सवाल खड़ी कर रही है। उच्चतम न्यायालय का फैसला आने के बाद भी कांग्रेस और उसके अध्यक्ष श्री गांधी इस पर सवाल उठा रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष का राफेल पर सवाल उठाना देश को कमजोर बनाने की दिशा में एक कदम है। एक झूठ को बार-बार बोला जा रहा है। उन्होंने कहा कि राफेल सौदे पर उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद श्री गांधी को नैतिकता के आधार पर अध्यक्ष पद के साथ ही संसद की सदस्यता से इस्तीफा देकर देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए। इस मौके पर बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद नित्यानंद राय, पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव, पूर्व मंत्री सम्राट चौधरी और नीतीश मिश्रा समेत कई नेता मौजूद थे।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.