Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के बाद राजस्थान में सीएम पद का कार्यभार संभालते ही अशोक गहलोत ने किसानों की कर्ज माफी का आदेश दे दिया। राजस्थान सरकार ने किसानों द्वारा 30 नवंबर 2018 तक लिए गए 2 लाख तक के कर्ज माफ करने का आदेश जारी कर दिया है।

ऋण माफी के बाद राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने ट्वीट में लिखा, ‘कांग्रेस अध्यक्ष श्री राहुल गांधी जी द्वारा किए गए वादे के अनुसार हमारी सरकार ने किसानों के कर्ज माफ करने की घोषणा कर दी है – कांग्रेस जो कहती है वह करती है!’

विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में वादा किया था कि अगर पार्टी सत्ता में आई तो किसानों के 2 लाख तक के ऋण माफ किए जाएंगे। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शपथग्रहण के चंद घंटों बाद ही किसानों के कर्जमाफी संबंधी फाइलों पर दस्तखत कर दिए थे। जिसके बाद छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शपथ ग्रहण के फौरन बाद कर्जमाफी की घोषणा कर दी थी।

 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कर्जमाफी की जानकारी देते हुए बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वादा किया था, जिसे 10 दिन के भीतर पूरा करना था। इस आदेश के तहत कोऑपरेटिव बैंकों के किसानों का पूरा कर्ज माफ होगा। जबकि जो किसान कमर्शियल बैंक के ऋण नहीं चुका पाए और बैंक के डिफाल्टर हैं, उनका दो लाख तक का कर्ज माफ होगा।

उन्होंने बताया कि वसुंधरा सरकार ने 2000 करोड़ तक का कर्ज माफ किया था और 8000 का करोड़ का कर्ज़ छोड़ दिया। इस ऋण माफी से सरकार पर 18000 करोड़ का भार पड़ेगा और 30 नवंबर 2018 तक के ऋण माफ किए जाएंगे।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.