Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

एनकाउंटर की अलग-अलग तस्वीरें…कही जमीन पर गिरी पिस्तौल, तमंचे, बाइक, कहीं खून तो कहीं अपराधी गोलियों के दम पर जमींदोज…ये सभी तस्वीरें यूपी की हैं… इलाके अलग-अलग हैं…क्योंकि, यूपी पुलिस आजकल एनकाउंटर मोड में हैं…सूबे के मुखिया का आदेश है कि, सूबे में कानून का राज हर कीमत पर कायम हो…इसके लिए पुलिस को खुली छूट दी गई है…गोलियां चलने पर गोलियां नहीं गिनने के आदेश दिए गए हैं…इसके बाद पूरे यूपी में एनकाउंटर की बाढ़ आ गई…धड़ाधड़ अपराधी ढेर किये जाने लगे…कुख्यात बदमाश बेल तुड़वाकर हाथ जोड़ते नजर आए…तो कोई गले में तख्ती लटकाकर खुद के सुधरने का दावा करता दिखा…तो मेरठ के बुढ़ाना गेट इलाके में तो कई बदमाश लूट की रकम पर अय्याशी करने की बजाय सब्जी के ठेले लगाने में ही खुद की भलाई समझ रहे हैं…ये देखकर सभ्य समाज के लोग खुश हैं…कि, अपराधियों पर शामत आ गई है…लेकिन, वहीं पुलिस जब पिट जाए तो क्या कहेंगे…

Dalit's Vandalism Video viralये तस्वीरें दिल्ली से करीब 100 किलोमीटर दूर बुलंदशहर की है…जहां इंस्पेक्टर, दारोगा और अन्य पुलिसकर्मी भागते दिखे…अब ये मत सोचिएगा कि, किसी अपराधी को पकड़ने के लिए दौड़ लगा रहे हैं…यहां मामला उलट है…पुलिसकर्मियों को भद्दी-भद्दी गालियां देकर भागने नहीं तो अंजाम भुगतने की धमकी दी गई…जान बचाने के लिए पुलिसवालों ने दौड़ लगाकर भागने में ही अपनी भलाई समझी…वैसे भी जान है तो जहान है…वायरल वीडियो बुलंदशहर के खानपुर थाना क्षेत्र के जड़ोल का बताया गया है…खानपुर थाना पुलिस पर हमले की ये तस्वीर जो आप देख पा रहे हैं वो तो किसी के कैमरे में कैद हो गई…आरोप है कि, इसके पहले उपद्रवियों ने पुलिसकर्मियों को बन्धक बनाकर पीटा…इसके बावजूद उनके मंसूबे इतने बुलंद थे कि, उन्होंने पुलिसकर्मियों को घर के बाहर लाकर भी पीटा और गंदी-गंदी गालियां दीं…

अब आप ये भी जान लीजिए कि, ये किस्सा किस दिन का है…जनाब ये घटना उसी दिन की है…जिस दिन एससी-एसटी ऐक्ट में बदलाव के विरोध में दलितों को देश में खुद को सर्वाधिक उपेक्षित वर्ग बताने वाले कई दलित संगठन और सियासी दल भारत बंद के लिए जोर आजमाइश में जुटे थे…जैसे कि, बंद होने से दलितों का विकास हो जाएगा…उनकी सारी समस्याएं छूमंतर हो जाएंगी…खैर…ये सियासी बातें हैं…अभी का सच यही है कि, बुलंदशहर के खानपुर थाना क्षेत्र के जड़ोल में पुलिसकर्मियों को पीटने वाले तमाम आरोपी दलित ही बताए गए हैं…पुलिसकर्मियों से गुंडई और उन्हें भद्दी-भद्दी गालियां देते दलित बस्ती के लोगों का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है…वीडियों में दलित युवकों ने पिस्तौल और लाठियों से लैस दारोगा और अन्य पुलिसकर्मियों को जमकर गालियां दीं…डंडे दिखाए, पथराव किया, जान बचाकर भागने पर मजबूर किया…ऐसे में कानून के राज के वादों का क्या होगा…?…अब आप ये तय कीजिए कि, दलित कौन है…भागने वाला या भगाने वाला…

एपीएन डेस्क

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.