Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

दक्षिण दिल्ली और नोएडा को जोड़ने वाली मैजेंटा लाइन पर कालिंदी कुंज मेट्रो स्टेशन पर एक मेट्रो ट्रायल के दौरान बड़ा हादसा होने से टल गया। ये ट्रेन ट्रायल के दौरान दीवार से टकरा गई और दीवार तोड़कर बाहर निकल गई। हालांकि इस हादसे में कोई घायल नहीं हुआ है। लेकिन दिल्ली मेट्रो मामले की जांच कर रही है।

जानकारी के मुताबिक मेट्रो को आगे की ओर जाना था लेकिन किसी तकनीकि गड़बड़ी के चलते मेट्रो लगातार पीछे की ओर जाती गई और स्टेशन की दीवार तोड़कर बाहर निकल गई। अभी यह पता नहीं चला है कि ट्रेन किस रफ्तार से बाहर निकली।

मैजेंटा मेट्रो लाइन के शुरू होने से नोएडा से साउथ दिल्ली सिर्फ 16 मिनट में पहुंचा जा सकता है, जबकि फिलहाल इस दूरी को तय करने में 52 मिनट का समय लगता है। मैजेंटा लाइन का प्लान बोटेनिकल गार्डेन से जनकपुरी तक का है। लेकिन फिलहाल इसका प्लान सिर्फ कालकाजी मंदिर तक ही काम पूरा हो पाया है।

मेट्रो हादसे पर मेट्रो का परिचालन करने वाली संस्था डीएमआरसी का बयान सामने आया है। डीएमआरसी ने हादसे के लिए गलती मानी है। डीएमआरसी के मुताबिक ट्रेन को धुलाई के लिए वर्कशॉप में लाया गया था। यहां धुलाई के बाद ब्रेक की जांच किए बिना ही ट्रेन को रवाना कर दिया गया था। धुलाई के बाद रैप से उतरने के दौरान ट्रेन लगातार पीछे जाती गई और बाउंड्री वॉल को तोड़कर बाहर निकल गई।  मेट्रो ने तीन अधिकारियों की कमेटी बनाकर घटना की जांच के आदेश दिए हैं। इसक हादसे की जांच रिपोर्ट आने के बाद दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

आपको बता दें कि 25 दिसंबर क्रिसमस के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नोएडा से साउथ दिल्ली की दूरी कम करने वाली दिल्ली मेट्रो की मैजेंटा लाइन का उद्घाटन करने वाले थे। 25 दिसंबर से मैजेंटा लाइन के एक सेक्शन में ट्रेनों का परिचालन शुरू हो जाएगा। मेट्रो बोटेनिकल गार्डेन से शुरू होकर कालकाजी मंदिर तक जाएगी।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.