Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

देश अंतरराष्ट्रीय मंच पर लगातार अपनी एक खास छाप छोड़ता जा रहा है। एक तरफ जहां ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ ने दुनियाभर को अचंभित करके रखा हुआ है तो वहीं अब दिल्ली मेट्रो ने भी नया कीर्तिमान स्थापित किया है। जी हां, दिल्ली मेट्रो अब विश्व की सबसे विशाल मेट्रो नेटवर्क लंदन, शंघाई, न्यूयॉर्क, बीजिंग की सूची में शामिल हो गया है। दिल्ली मेट्रो ने यह कीर्तिमान बुधवार को हासिल किया। यह रिकॉर्ड पिंक लाइन मेट्रो के केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के जरिए उद्घाटन के साथ हासिल हुई। पूर्वी दिल्ली पर उपरिगामी मार्ग पर करीब 15 स्टेशन हैं, जिनमें तीन स्टेशनों पर मेट्रो बदलने की सुविधा है। डीएमआरसी में कार्यकारी निदेशक, कॉर्पोरेट संचार, अनुज दयाल ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘पिंक लाइन के इस मार्ग के शुरू होने के साथ ही दिल्ली मेट्रो नेटवर्क 229 स्टेशनों के साथ 314 किमी तक फैल जाएगा।

इस कामयाबी के बाद दिल्ली मेट्रो विश्व में कुछ चुनिंदा मेट्रो में शामिल हो गई है क्योंकि इतने लंबे नेटवर्क वाले विश्व में चुनिंदा मेट्रो हैं, जिनमें अब दिल्ली मेट्रो का नाम शुमार हो गया है। 17.86 किलोमीटर लंबे पिंक लाइन के इस मेट्रो लाइन पर कुल 15 स्टेशन हैं। इनमें त्रिलोकपुरी संजय लेक, इस्ट विनोद नगर, आनंद विहार, कड़कड़डूमा, कड़कड़डूमा कोर्ट और वेलकम स्टेशन प्रमुख हैं। इस मेट्रो के शुभारंभ से नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में लोगों को ट्रैफिक जाम से मुक्ति मिलेगी। इस लाइन पर यात्रा करने वाले वेलकम, कड़कड़डूमा और आनंद विहार स्टेशनों पर इंटरचेंज कर सकेंगे।

बता दें कि दुनिया के शीर्ष नेटवर्को में पहले से लंदन, बीजिंग, शंघाई, न्यूयॉर्क की मेट्रो शामिल है। डीएमआरसी के पास आज चार, छह और आठ कोच की 280 ट्रेन का सेट है। वर्तमान में छह कोच वाली 100 से अधिक और आठ कोच वाली 60 से अधिक ट्रेनें चलाई जा रही हैं। दिल्ली मेट्रो ने पर्यावरण के मोर्चे पर भी महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.