Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित कानपुर के एक वृद्धाश्रम में बुजुर्ग नागरिकों को भूखा प्यासा रखा जा रहा है। उनको दिन में सिर्फ एक बार भोजन दिया जाता है और एक बार पानी भरने के बाद दोबारा पानी भी नहीं दिया जाता है। यह चौंकाने वाला खुलासा उत्तर प्रदेश की समाज कल्याण राज्य मंत्री गुलाब देवी के औचक निरीक्षण के दौरान हुआ।

कानपुर के सर्किट हाउस के वातानुकूलित सभागार में बैठक करने के बाद किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि एक बुजुर्ग महिला मंत्री इतनी भीषण गर्मी में अचानक बेसहारा बुजुर्गों का हाल जानने के लिये बाहर खुले में निकल जाएँगी और इस निरीक्षण से सरकारी व्यवस्थाओं की पोल खुल जायेगी। लेकिन कानपुर में कुछ ऐसा ही हुआ।

समाज कल्याण मंत्री गुलाब देवी अपने हम उम्र बेसहारा लोगों का हाल जानने के लिये किदवई नगर स्थित वृद्धाश्रम पहुँच गयी तो उन्हें वहां दुख तकलीफ में रखे जा रहे वृद्धों की तमाम पीड़ा से रूबरू होना पड़ा। यहाँ परिवार से तिरस्कृत बुजुर्ग सरकार की शरण में रहते हैं लेकिन उन्होने मंत्री को बताया कि यहाँ उन्हें भूखा प्यासा रखा जाता है। अगर कोई स्वयंसेवी संस्था उनपर तरस खाकर खाना बाँट भी गयी तो पूड़ियाँ सूखकर इतनी सख्त हो चुकी होती हैं कि दांत न होने से वो उसे काट भी नहीं पाते हैं। सफाई न होने के कारण उन्हें गन्दगी में रहना पड़ता है और रसोईया उनसे इतनी अभद्रता करता है कि उन्हें पीने को पानी भी नहीं देता।

बुजुर्गों की इन तकलीफों को सुन कर मंत्री का पारा चढ़ने लगा। इसपर जिला समाज कल्याण अधिकारी ने मामला सँभालते हुए रसोईये सोनू को बुजुर्गों के पैर छूकर माफी माँगने को कहा। प्रदेश में ज्यादातर वृद्धाश्रम एनजीओ द्वारा संचालित हैं और इन्हें सरकार से अनुदान मिलता है। कानपुर के इस वृद्धाश्रम में 58 पुरूष और 55 महिलाऐं रहती हैं लेकिन आश्रम के रिकार्ड में भारी गड़बड़ी देखकर अनुदान में हेराफेरी की सम्भावना से इनकार नहीं किया जा सकता। अब मंत्री ने अफसरों को व्यवस्था दुरूस्त रखने की चेतावनी दी है। समाज कल्याण मंत्री ने निरीक्षण के बाद मीडिया से बातचीत में ऐलान किया कि योगी सरकार गरीब परिवारों के बच्चों का सामूहिक विवाह कराने की योजना लाने जा रही है।

यहाँ देखें वीडियो-

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.