Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पत्रकार गौरी लंकेश की जिस तरह हत्या हुई उसने अपने पीछे कई प्रश्न छोड़े हैं। गौरी लंकेश की हत्या की हर तरह निंदा हो रही है और इसी बीच एक तरफ जहाँ एक भाजपा सासंद ने उनकी मौत पर विवादित बयान दिया है तो भाजपा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ऐसे सभी बयानों को सिरे से खारिज किया है।

बता दें कि बीजेपी के विधायक और पूर्व मंत्री डीएन जीवराज ने कहा था कि पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या इसलिए हुई कि वह हिंदुत्व के खिलाफ लिख रही थीं। जीवराज ने कहा कि “कांग्रेस के शासनकाल में हमने संघ के लोगों को मरते हुए देखा है, जिसके बाद गौरी लंकेश ने भी उनके बारे में लिखा। अगर वह इस तरह के लेखों से दूरी बनाए रखतीं तो शायद जीवित होतीं। गौरी लंकेश मेरी बहन की तरह हैं, लेकिन जिस तरह से उन्होंने हमारे खिलाफ लिखा वह गलत था।”

वहीं भाजपा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बात को पूरी तरह से खारिज किया है कि गौरी लंकेश की हत्या किसी हिन्दुत्ववादी संगठन, दक्षिणपंथ और संघ से जुड़े लोगों ने की है। प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कर्नाटक सीएम सिद्धारमैया और राहुल गांधी पर प्रश्न उठाते हुए कहा कि अगर गौरी लंकेश की हत्या पर जब आप बोल रहे हैं  तो कर्नाटक और केरल में हो रहे संघ और बीजेपी के कार्यकर्ता की हत्या पर क्यों नहीं बोलते?

रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि गौरी लंकेश की हत्या के बारे में खुद उनके भाई ने कहा है कि उनकी  हत्या के पीछे नक्सलियों का भी हाथ हो सकता है क्योंकि वो सदा ही उनके लिए लिखती रही हैं। उन्होंने कहा कि “उनके भाई ने एक अखबार को दिए इंटरव्यू में कहा है कि गौरी लंकेश नक्सलियों को मेन स्ट्रीम में लाना चाहती थीं। वह एक नागराज नाम के नक्सली को मेनस्ट्रीम में ले आई थी जिससे नक्सली उनसे नाराज भी थे, तो हो सकता है कि उनकी इस हत्या के पीछे उनका भी हाथ हो।”

रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि यह कोई पहली घटना नहीं है, इससे पहले भी कर्नाटक में ऐसी हत्या हुई है, आखिरकार अब तक कलबुर्गी की हत्या का आरोपी क्यों नहीं पकड़ा गया, कर्नाटक में कांग्रेस की सरकार क्या कर रही है।

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में भाजपा ने इस हत्या की घोर निंदा करते हुए कहा कि हत्या, हत्या ही होती है, इसपर राजनीतिक पार्टियां राजनीति न करें और हम ऐसे किसी भी हत्या की निंदा करते हैं। सरकार को चाहिए कि इसकी निष्पक्षता से जांच करे और हत्यारों को सजा दे।   

उधर ट्विटर पर पीएम मोदी को गाली देने वाले आदमी को फॉलो करने और इसके लिए पीएम को अनफॉलो करने वाले अभियान क भाजपा ने हास्यपद बताया है। भाजपा के आइटी विभाग के प्रमुख अमित मालवीय ने गुरुवार को एक बयान जारी कर कहा कि राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल जैसे विपक्षी नेताओं के फॉलोवरों के व्यवहार पर कोई विवाद नहीं होता। उन्होंने कहा कि मोदी का किसी व्यक्ति को ट्विटर पर फॉलो करना किसी तरह का चरित्र प्रमाणपत्र नहीं है। वे कई आम लोगों को फॉलो करते हैं और उनसे निरंतर बात भी करते हैं।

इतना ही नहीं उन्होंने राहुल गांधी और केजरीवाल के ऊपर तंज कसते हुए कहा है कि पीएम तो राहुल को भी फॉलो करते हैं जबकि जो लूट और धोखाधड़ी के आरोपी हैं। भाजपा का कहना है कि पीएम किसी को ब्लॉक या अनफॉलो नहीं करते। अरविंद केजरीवाल का उदहारण देते हुए भाजपा ने कहा है कि वो तो उन्हें भी फॉलो करते हैं, जिन्होंने उन्हें अपशब्द कहे थे।

भाजपा के अधिकृत ट्विटर अकाउंट से जारी इस बयान में कहा गया है कि पीएम मोदी ऐसे नेता हैं, जो अभिव्यक्ति की आजादी में विश्वास करते हैं और उन्होंने कभी भी किसी को ब्लॉक या अनफॉलो नहीं किया।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.