Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

जिस क्षेत्र के सांसद खुद देश के पीएम हों, जिस क्षेत्र के सीएम योगी हों, जिस क्षेत्र में आस्था का सबसे बड़ा मंदिर हो, ऐसे क्षेत्र में महिलाएं अपनी सुरक्षा के लिए प्रदर्शन कर रही हों, तो यह देश के लिए बड़ा ही गंभीर विषय बन जाता है। केंद्र स्तर पर देश में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना चल रहा है, राज्य स्तर पर एंटी रोमियो स्क्वायड जैसी योजना चल रही है और उसके बावजूद जमीनी हकीकत यह है कि देश के सबसे प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय बीएचयू की छात्राएं छेड़खानी के विरोध में कॉलेज गेट पर प्रदर्शन कर रही हैं। बीएचयू बनारस ही नहीं पूरे देश में एक जाना-माना विश्वविद्यालय है, ऐसे में छेड़खानी जैसी घटना विश्वविद्यालय की ही नहीं पूरे देश की साख गिराती है।

प्रधानमंत्री मोदी आज से अपने संसदीय क्षेत्र काशी के दो दिनों के दौरे पर हैं। इस दौरान वह कई परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे। इस दौरान पीएम बड़ा लालपुर में देश को दीनदयाल हस्तकला संकुल- हस्तशिल्प के लिए एक व्यापार सुविधा केंद्र समर्पित करेंगे और एक वीडियो लिंक के माध्यम से वह महामना एक्सप्रेस को झंडी भी दिखायेंगे। यह ट्रेन वाराणसी को गुजरात में सूरत और वड़ोदरा के साथ जोड़ेगी। वहीं दूसरी तरफ बीएचयू की छात्राओं ने बीएचयू गेट के सामने छेड़खानी के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया है। यहां तक कि विरोध में एक छात्रा ने अपना सिर तक मुंडवा लिया।

ये भी पढ़ें- पीएम मोदी आज से दो दिवसीय काशी दौरे पर, कई परियोजनाओं का करेंगे उद्घाटन

इन छात्राओं का आरोप है इनके साथ कैंपस में लगातार छेड़खानी होती है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होती। इन छात्राओं का आरोप है कि इसमें प्राक्टोरियल बोर्ड के लोग भी शामिल हैं जिनकी वजह से कोई कार्रवाई नहीं होती। बता दें कि गुरुवार को बीएचयू में भारत कला भवन के पास छात्रा के साथ बाइक सवारों ने छेड़खानी की। छात्रा के चिल्लाने के बाद भी चंद कदम की दूरी पर मौजूद बीएचयू के सुरक्षाकर्मियों ने कोई मदद नहीं की, जिससे घबराई छात्रा हॉस्टल वापस आई। उसने छात्राओं को पूरी बात बताई जिसके बाद छात्राएं आक्रोशित हो गईं। जिस तरह से इन छात्राओं ने प्रदर्शन किया उससे ज़िला प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए हैं और धरना स्थल पर भारी फोर्स को तैनात कर दिया गया है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.