Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

उत्तर प्रदेश में 50,244 गन्ना उत्पादक किसानों को एसएमएस भेज कर गन्ने में पोक्का बोइंग रोग के लक्षण तथा नियंत्रण के उपाय के लिए जागरूक किया गया है। सरकारी प्रवक्ता के अनुसार प्रदेश के गन्ना एवं चीनी उद्योग मंत्री सुरेश राणा के निर्देश के क्रम में गन्ना शोध परिषद के विभिन्न संस्थाओं/केन्द्रों एवं अनुबंधित चीनी मिल फार्मो पर अभिजनक बीज गन्ना को रोग एवं कीट मुक्त तथा आनुवंशिक शुद्वता सुनिश्चित करने के लिए परिषद के वैज्ञानिकों ने प्री-मानसून सर्वे का कार्य पूरा कर लिया।

यह भी पढ़ें: उपचुनाव की हार के बाद आई गन्ना किसानों की याद, 7000 करोड़ का मिलेगा पैकेज

उन्होंने बताया, कि राज्य कृषि प्रबन्ध संस्थान, रहमानखेड़ा से गए 35 प्रसार कर्मियों के दल को गन्ना शोध संस्थान शाहजहापुर के प्रक्षेत्र एवं प्रयोगशाला भ्रमण तथा वैज्ञानिकों ने गन्ना उत्पाद की उन्नत तकनीक की जानकारी प्रदान की और साथ ही गन्ना किसान संस्थान द्वारा आयोजित गोष्ठियों में परिषद् के वैज्ञानिकों ने किसानों से बातचीत की और उन्हें महत्वपूर्ण जानकारी दी।

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार ने चीनी मिलों और गन्ना किसानों को दी राहत- 8,000 करोड़ का दिया पैकज

प्रवक्ता ने बताया कि गन्ने में पोक्का बोइंग रोग के लक्षण तथा नियंत्रण के उपाय के लिए एम-किसान पोर्टल के माध्यम से 50,244 गन्ना कृषकों को एसएमएस भेज कर जागरूक किया गया। उन्होंने बताया कि किसानों को समय से रोग के बारे में जानकारी देने से गन्ना उत्पादन को बढ़ावा मिलेगा।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.