Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

उत्तर प्रदेश के कर्नलगंज तहसील क्षेत्र में घाघरा नदी के तेज बहाव के कारण  ऐल्गिन चडसडी रिंगबांध टूटने पर आयी बाढ़ की स्थिति का जायजा लेने शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंचे। यहां उन्होंने कहा है कि बाढ प्रभावित क्षेत्रों पर सरकार की पैनी नजर है और पीडितों को सुरक्षा,विस्थापन और खानपान की सुविधा मुहैया कराने के अलावा बाढ में जानमाल के नुकसान की भरपाई सरकार करेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ पीड़ितों को जमीन का तत्काल उचित मुआवजा मिलेगाl उन्होंने कहा कि बरसात का मौसम के वजह से प्रदेश में अतिवृष्टि के समाचार आ रहे है। घाघरा पर बने ऐल्गिन चडसड़ी तटबंध पर बराबर सरकार की निगाह है। योगी ने प्रमुख सचिव और अन्य आला अधिकारियो एवं जनप्रतिनिधियों के संग समीक्षा बैठक के बाद पीड़ितों को संबोधित करते हुए कहा कि केन्द्र और प्रदेश सरकार बाढ़ और हर आपदा से चौबीस घंटे में राहत पहुंचा कर उन्हे सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिये हर संभव प्रयास कर रही है।

उन्होंने कहा कि घाघरा नदी पर बने तटबंध को बचाने का अथक प्रयास किया गया लेकिन लखनऊ,आसपास के क्षेत्रों और नेपाल में लगातार हो रही बारिश से बढ़े जलस्तर से दुर्भाग्यवश बधे का कुछ हिस्सा कट गया। बाढ़ पीड़ितों को चिंतित होने की आवश्यकता नही है क्योंकि सरकार उनकी सुरक्षा, विस्थापन, खानपान और सभी प्रकार के क्षतिपूर्ति का काम कर रही है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि तटबंधो की सुरक्षा की जा रही है। उन्होने बांध के प्रतिवर्ष टूटने के कारण आने वाली बाढ़ को लेकर बांध के स्थायी हल का आश्वासन दिया। उन्होंने बाढ़ राहत में शिथिलता, गड़बड़ी और किसी भी प्रकार की लापरवाही अक्षम्य होने की कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदा से हो रहे नुकसान की भरपाई और पीड़ित परिवारों की हर प्रकार की सहायता के लिये सरकार हर समय तत्पर है।

साभार-ईएनसी टाईम्स

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.