Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

गुजरात के रहने वाले भाई-बहन करोड़ों की संपत्ति छोड़ संन्यासी बनने जा रहे हैं। 9 दिसंबर को सूरत में आयोजित दीक्षा समारोह में 20 साल के यश वोरा  दीक्षा लेने के बाद साधु बनेंगे तो 22 वर्षीय उनकी बहन आयुषी वोरा भी संन्यासिन बन जाएंगी। संन्यास लेने के बाद दोनों कार के बजाय पैदल चलेंगे। ब्रैंडेड कपड़ों का त्याग करके दोनों साधारण सफेद सूती कपड़े धारण करेंगे। उनका भोजन सात्विक होगा

आयुषि ने कहा, ‘मेरी मां मुझसे कहती थीं कि किसी से मेरी शादी करने की बजाए वह मुझे माता जी की रूप में देखना चाहती हैं। मेरी मां की सलाह पर मैंने संन्यास धारण करने का फैसला किया। अब 9 दिसंबर को मेरा सपना पूरा हो जाएगा।’

वहीं यश ने कहा, ‘मैंने अपनी पढ़ाई पूरी की और फिर पापा के कपड़ा व्यवसाय के समझने के लिए उनके साथ जुड़ा। कुछ महीनों के बाद मुझे अहसास हुआ कि मैं इन काम के लिए नहीं बना हूं। मेरा दिमाग बहुत अशांत रहने लगा। उसी दौरान मेरी बहन ने मुझे संन्यास धारण करने की सलाह दी। मैं पालीताना गया और वहां आचार्य जी से प्रभावित हुआ। उसके बाद मैंने संन्यास धारण करने का फैसला लिया।’

दोनों के पिता भरत वोरा ने बताया कि उनका कपड़ों का बड़ा व्यापार है। खुद का अडाजन में एक बड़ा बंगला है। पैतृक गांव में संपत्ति है लेकिन वह अपने बच्चों के फैसले से खुश हैं।

बता दें कि यश और आयुषी दोनों गुजरात के एक कपड़ा व्यवसायी के बच्चे हैं। दोनों ने इंटर की पढ़ाई के बाद धार्मिक पढ़ाई के लिए पूज्य आचार्य भगवान यशोवरम सुरिश्रवर महाराज को जॉइन कर लिया था। चार साल पहले दोनों ने दीक्षा लेकर संन्यास धारण करने का फैसला लिया था।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.