Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

दिल्ली से लोकसभा सांसद हंसराज हंस ने जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी का नाम बदलने की वकालत की है। जेएनयू की एबीवीपी यूनिट की ओर से यूनिवर्सिटी कैंपेस में शनिवार देर शाम को हुए प्रोग्राम ‘शहीदों के नाम एक शाम’ में बतौर मेहमान पहुंचे हंसराज हंस ने कहा, हमारे बुजुर्गों से कुछ गलतियां की हैं, जिन्हें हम भुगत रहे हैं।

हंसराज ने व्यंग्य से यह भी कहा, जेएनयू में ‘जे’ का मतलब क्या है? उन्होंने हंसते हुए कहा, मैं तो कहता हूं इसका (जेएनयू) नाम एमएनयू कर दो, मोदीजी के नाम पर भी कुछ तो होना चाहिए। यूनिवर्सिटी का नाम बदलने के बयान के बाद सोशल मीडिया से लेकर विरोधियों के बीच इस कमेंट की चर्चा चल रही है। जेएनयू में भी कई स्टूडेंट्स ने इसकी निंदा की है।

उधर, एबीवीपी का कहना है कि हंसराज ने जो भी कहा मजाक में कहा। जेएनयू एबीवीपी यूनिट के प्रेजिडेंट दुर्गेश कुमार कहते हैं, हंसराज की ऐसी कोई मंशा नहीं थी। साथ ही, एबीवीपी का भी कोई ऐसा इरादा नहीं है कि जेएनयू का नाम बदला जाए। दुर्गेश ने कहा, शहीदों के नाम पर यह प्रोग्राम था, जो हाउसफुल रहा।

बीजेपी नेता मनोज तिवारी, हंसराज हंस और गायक दिनेश यादव निरहुआ की परफॉर्मेंस शानदार रही। इस मौके पर बीजेपी लीडर मनोज तिवारी ने कहा, अब समय के साथ बदलाव आया है। हम यहां के स्टूडेंट्स से ‘वंदेमातरम’ और ‘भारत माता की जय’ नारे भी सुनते हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.