Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बैठकों से अधिकारी ग़ायब होने लगे हैं। कोई न कोई बहाना कर अफ़सर मीटिंग में शामिल नहीं होते हैं। लेकिन इस बार तो हद तब हो गई, जब करीब छह साल बाद पुनर्गठन होने के बाद राज्य आपदा प्रबंध प्राधिकरण की बैठक हुई, मंत्री से लेकर बाक़ी अधिकारी मौजूद रहे लेकिन राहत आयुक्त संजय कुमार ही इस मीटिंग में नहीं पहुँचे। आपदा पर हो रही बैठक में कई मंत्रियों समेत प्रमुख सचिव गृह भी मौजूद थे, लेकिन राहत आयुक्त संजय कुमार नहीं पहुंचे।

राहत आयुक्त की गैरहाजिरी पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ी नाराजगी जताई और उनके न आने की वजह पूछी। जिसके जवाब में मुख्यमंत्री को बताया गया कि बैडमिंटन खेलते समय संजय को चोट लग गई है। इस बात से नाराज़ सीएम योगी आदित्यनाथ ने तुरंत उन्हें हटाने का निर्देश दे दिया। ये कोई पहला मौका नहीं है जब कोई अधिकारी सीएम योगी की बैठक से नदारद रहा हो। इससे पहले भी कई बार अधिकारी बैठक से गायब रहे हैं। या कई बारअफ़सर गप्पें लड़ाते और मोबाइल पर गेम खेलते हुए पकड़े जा चुके हैं। योगी की रोक टोक और फटकार का भी इन पर कोई असर नहीं पड़ रहा।

आपको बता दें कि 2002 बैच के आईएएस अधिकारी संजय कुमार बिहार के रहने वाले हैं। उनकी पत्नी भी आईपीएस अफ़सर हैं। फ़ोटोग्राफ़ी का शौक़ रखने वाले संजय इससे पहले इलाहाबाद और सीतापुर के डीएम रह चुके हैं।

इस बैठक में जगली जानवरों के हमले को दैवी आपदा मानने का फैसला हुआ हमले में घायल होने या मौत होने पर पीड़ित परिवारवालों को मुआवजा भी देने का निर्णय लिया गया है। ऐसी घटनाओं में मृत्यु पर पांच लाख रुपये और घायल होने पर नुकसान के हिसाब से तय मानक पर मुआवजा देने का फैसला किया गया है।

यहीं नहीं दोपहर हुई ऊर्जा विभाग की बैठक से भी कुछ अफ़सर ग़ायब रहे। इस बैठक में कई जिलों के अधिकारी वीडियो कॉन्फ़्रेंस से जुड़े हुए थे। यूपी के बिजली मंत्री श्रीकांत शर्मा ने जौनपुर में योजना की प्रगति के बारे में बोलना शुरू किया तो पता चला कि वहां के डीएम अरविंद मलप्पा मीटिंग में ही नहीं आए हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने पूछा डीएम कहां गए? तो उन्हें बताया गया कि वे छुट्टी पर हैं। योगी ने चीफ़ सेक्रेटरी अनूप चंद्र पांडे से पूछा,”मोहर्रम में इन्हें छुट्टी किसने दे दी”। सब एक दूसरे का मुँह देखने लगे। केन्द्रीय मंत्री आरके सिंह भी बैठक के लिए दिल्ली से आए थे।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.