Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पाकिस्‍तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्‍मद के ठिकानों पर वायुसेना की एयर स्‍ट्राइक के बाद जब विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज चीन पहुंचीं तो वहां उनका जोरदार स्‍वागत हुआ। बुधवार सुबह विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने वुज़ेन में चीन के विदेश मंत्री वांग ली और रूसी विदेश मंत्री से मुलाकात की।

यहां उन्होंने पुलवामा में हुए आतंकी हमले का जिक्र किया और कहा भारत आतंकवाद के खिलाफ ज़ीरो टॉलरेंस की नीति रखता है।

सुषमा स्वराज ने भारत की एयरस्ट्राइक का जिक्र करते हुए चीनी विदेश मंत्री के सामने कहा, ‘’ मेरा चीन का दौरा ऐसे समय पर हो रहा है जब भारत दुख और गुस्से से भरा हुआ है। कुछ दिन पहले ही जम्मू-कश्मीर में एक बड़ा आतंकी हमला हुआ था।’इस आतंकी हमले को पाकिस्तान से चलने वाले आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने अंजाम दिया था। जिसका जवाब भारत ने दिया है। उन्होंने बताया कि जब पाकिस्तान ने जैश के खिलाफ कोई कड़ा कदम नहीं उठाया, तो भारत ने ऐसा कर दिया।

आपको बता दें कि सुषमा ने मंगलवार तड़के भारत के द्वारा की गई एयरस्ट्राइक की जानकारी रूस और चीन के विदेश मंत्रियों को दी। उन्होंने बताया कि पुख्ता इनपुट मिलने के बाद भारत की वायुसेना ने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी अड्डों के खिलाफ कार्रवाई की, इसमें कई आतंकवादी मारे गए हैं।

गौरतलब है कि चीन और पाकिस्तान की दोस्ती बीते कुछ समय में मजबूत हुई है। ऐसे में चीन को इस विषय पर भी साधना काफी अहम हो जाता है। जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने की भारत की राह में चीन सबसे बड़ी दीवार है।

UNSC की बैठक में चीन कई बार अपनी वीटो पावर का इस्तेमाल कर मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित होने से बचा चुका है। हाल ही में जब पुलवामा आतंकी हमले को लेकर UNSC की बैठक में निंदा प्रस्ताव लाने की बात हुई, तो चीन ने इसमें मसूद अजहर का नाम आने का विरोध किया। काफी मशक्कत के बाद चीन जैश-ए-मोहम्मद का नाम लेने पर राजी हुआ था।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.