Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

देश में दिन-प्रतिदिन अपराध का ग्राफ बहुत तेजी से ऊपर की ओर बढ़ता जा रहा है। यूपी में लगातार हो रहे एनकाउंटर के बाद भी अपराध पर अंकुश नहीं लग पा रहा है। वहीं दिल्ली भी अब अपराधियों के अड्डे के नाम से प्रसिद्द हो गई है। ऐसे में अब दिल्ली और यूपी पुलिस ने अपराध का खात्मा करने के लिए हाथ मिला लिया है। यानि कि अब यूपी और दिल्ली पुलिस संयुक्त रूप से अपराध का ग्राफ कम करने के लिए प्रयास करेगी। मंगलवार को दोनों राज्यों के पुलिस अधिकारियों ने सेक्टर-18 के रेडिसन ब्लू में हुई मीटिंग में यह निर्णय लिया। गौरतलब है कि यह मीटिंग आईजी मेरठ रामकुमार व पूर्वी दिल्ली के जॉइंट सीपी के नेतृत्व में हुई।

 

दरअसल, यूपी के कुछ शातिर अपराधी ऐसे हैं जो सूबे में अपराध करके दिल्ली में शरण ले लेते हैं। ऐसे मामले सबसे ज्यादा पश्चिमी यूपी से सामने आते हैं। इसलिए अब यूपी और दिल्ली पुलिस ने मिलकर यह सुनिश्चित कर लिया है कि अब अपराधी चाहे जहां छिपा हो, मिलकर कार्रवाई की जाएगी।

 

इस बैठक में संयुक्त बॉर्डर चेकिंग व ट्रैफिक को लेकर दोनों राज्यों की पुलिस ने बेहतर तालमेल पर जोर दिया। साथ ही अपराधियों से जुड़ी सूचनाओं के आदान-प्रदान पर बल दिया गया। इस बार्बत एसएसपी डॉ. अजयपाल शर्मा ने बताया, कि वांछित अपराधियों की धरपकड़, सूचनाओं के आदान प्रदान, संयुक्त चेकिंग और यातायात व्यवस्था को लेकर मुख्य रूप से सहमति बनी है।

 

एसएसपी के मुताबिक, दिल्ली व पश्चिम यूपी में करीब 100 बदमाश ऐसे हैं, जो एक इलाके में अपराध करने के बाद दूसरे राज्य में जाकर शरण ले लेते हैं। पश्चिम यूपी में आपराधिक वारदात को अंजाम देकर यहां से बदमाश दिल्ली जाकर छिप जाते हैं। जबकि दिल्ली में वारदात करके बदमाश इस तरफ भाग आते हैं। लिहाजा ऐसे अपराधियों के खिलाफ दोनों राज्यों की पुलिस मिलकर काम करेगी।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.