Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पुलवामा एनकाउंटर के एक दिन बाद आज मंगलवार को सेना, जम्मू कश्‍मीर पुलिस और सीआरपीएफ ने साझा प्रेस कांफ्रेंस की। इस साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में चिनार कॉर्प्स के लेफ्टिनेंट जनरल केजीएस ढिलन्न, श्रीनगर के आईजी एसपी पाणी, सीआरपीएफ के आईजी जुल्फिकार हसन और GoC विक्टर फोर्स के मेजर जनरल मैथ्यू शामिल हुए।

साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में चिनार कॉर्प्स के लेफ्टिनेंट जनरल केजीएस ढिलन्न ने कहा कि हम लोग पिछले काफी समय से जैश ए मोहम्मद के आतंकियों पर नजर बनाए हुए थे। जैश के आतंकियों ने ही पुलवामा में आतंकी हमला किया था। हमने पुलवामा हमले के 100 घंटे के अंदर घाटी में मौजूद जैश की लीडरशिप को खत्म कर दिया है।

पत्थरवाजों को चेतावनी देते हुए उन्होंने कहा जम्मू-कश्मीर की महिलाओं से अपील करते हैं कि वह अपने बच्चों को समझाएं और उन्हें सरेंडर करने को कहें। उन्होंने कहा कि सेना के पास सरेंडर पॉलिसी है, अब अगर जो भी सेना के खिलाफ बंदूक उठाएगा वो मारा जाएगा। उन्होंने कहा कि हम नहीं चाहते हैं कि कोई भी नागरिक घायल हो।

सेना के अफसरों ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले के पीछे ISI का हाथ था, उनकी मदद से ही जैश ने हमला किया था। लेफ्टिनेंट जनरल केजीएस ढिलन्न ने जम्मू-कश्मीर के पत्थरबाजों से अपील करते हुए कहा कि कोई भी नागरिक मुठभेड़ की जगह पर ना आए, ना ही मुठभेड़ के दौरान और ना ही बाद में। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर ऐसा होता है तो उन्हें भी एक्शन लेना होगा।

उन्होंने कहा कि जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तान का बच्चा है, यहां कितने गाजी आए और कितने चले गए। पाकिस्तानी सेना और ISI जैश-ए-मोहम्मद को कंट्रोल कर रही है। पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड कामरान ही था, जिसे मार गिराया गया है।

उन्होंने आतंकियों को खुली चेतावनी दी और कहा कि जो भी आतंकी जम्मू-कश्मीर में घुसेगा, वह जिंदा नहीं बचेगा। प्रेस कॉन्फ्रेंस में कश्मीर IG एसपी पाणी ने कहा कि पिछले साल हमने जैश के 58 आतंकियों को मार गिराया था, इस साल भी 12 जैश आतंकियों को मौत के घाट उतारा गया है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.