Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

नार्थईस्‍ट में एक के बाद एक पत्रकारों की हत्या हो रही है और कोई भी कड़ी कार्रवाई नहीं की जा रही है। जिससे नाराज पत्रकारों ने आज एक अलग ही अंदाज में विरोध प्रदर्शन किया। त्रिपुरा में पत्रकार संदीप दत्‍ता भौमिक की हत्‍या के खिलाफ पत्रकारों ने विरोध जताया।

त्रिपुरा पत्रकारों ने पत्रकार संदीप दत्‍ता भौमिक की हत्‍या के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। अधिकतर अखबारों ने संपादकीय का पन्‍ना खाली छोड़ कर अपना गुस्सा जाहिर किया है। पत्रकार भौमिक हत्‍या मामले में द्वितीय त्रिपुरा स्‍टेट राइफल्‍स के कमांडेंट तपन देबबर्मा को मंगलवार रात गिरफ्तार किया गया। जिसके एक दिन बाद अखबारों के समूह द्वारा इस तरह विरोध जताया गया। इसमें भाजपा और कांग्रेस ने भी अपना समर्थन देते हुए गुरुवार को त्रिपुरा बंद का आह्वान किया है।

वहीं त्रिपुरा में पत्रकारों की हत्‍या मामले को नेशनल मीडिया द्वारा गंभीरता से न लिए जाने पर त्रिपुरा के पत्रकारों ने निराशा जतायी। अगरतला प्रेस क्‍लब के पूर्व सचिव व प्रख्‍यात पत्रकार, सुजीत चक्रबर्ती ने कहा, ‘सुदीप की हत्‍या को राष्‍ट्रीय मीडिया में पर्याप्‍त कवरेज नहीं मिली। कुछ छोटी खबरों को छोड़ उन्‍होंने इतने बड़े अपराध को नजरअंदाज कर दिया। यह बड़े शहरों में होता, वहां राष्‍ट्रीय अखबारों और इलेक्‍ट्रॉनिक मीडिया दोनों जगहों पर इसे बड़ी जगह मिलती।‘

आपको बता दें कि त्रिपुरा के आरके नगर में मंगलवार को सुदीप दत्‍ता भौमिक को गोली मारकर हत्‍या कर दी गयी थी। सूत्रों के अनुसार, आरके नगर में त्रिपुरा स्‍टेट राइफल्‍स के बटालियन मुख्‍यालय के भीतर उनकी हत्‍या की गयी। भौमिक के भाई ने बताया, ‘सुदीप की जान सर्कल ऑफिसर के कमरे के भीतर ले ली गयी।‘

वहीं इसके पहले 20 सितंबर को पत्रकार शांतनु भौमिक की हत्‍या की गयी जब वे आइपीएफटी के विरोध प्रदर्शन को कवर कर रहे थे। इसके अलावा एक और पत्रकार गौरी लंकेश को उनके आवास के बाहर ही मार दिया गया था।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.