Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

कानपुर एसपी ईस्ट के पद पर तैनात सुरेंद्र दास के सुसाइड के प्रयास मामले में पुलिस ने शुरूआती तफ्तीश के दौरान कुछ सनसनीखेज खुलासे किये हैं। पुलिस की जांच में ये बात सामने आई है कि आईपीएस सुरेंद्र दास कई दिनों से डिप्रेशन में थे और गूगल पर आत्महत्या करने के बारे में सर्च भी किया था। इसके बाद एसपी ने अपनी जान देने के लिए करीब 25 ग्राम सल्फास खा लिया। एसपी सुरेंद्र दास ने आत्महत्या करने से पहले एक सुसाइड नोट भी लिखा था। जिस पर उन्होंने अपने पारिवारिक झगड़े से परेशान होकर इस आत्मघाती कदम को उठाने के बारे में लिखा है।

सुसाइड नोट में सुरेंद्र दास ने अपनी पत्नी के लिए लिखा है, “मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं, मुझे माफ करना”। कानपुर पुलिस के मुताबिक, एसपी सुरेंद्र दास और उनकी पत्नी रवीना सिंह के बीच कुछ बातों को लेकर अक्सर झगड़े होते थे। जन्मआष्टमी के दिन एसपी की पत्नी रवीना सिंह ने नॉनवेज बर्गर मंगा कर खाया था। जिस पर दोनों की बीच जमकर झगड़ा हुआ था। फोरेंसिक जांच के दौरान एसपी के दोनों मोबाइल फोन टूटे मिले थे। घटना वाली रात भी दोनों के बीच झगड़ा हुआ था। जिसके बाद एसपी ने अपनी जीवनलीला को खत्म करने का बड़ा कदम उठा लिया।

आईपीएस सुरेंद्र दास ने अपने सुसाइड नोट में किसी को दोषी नहीं ठहराया है। केवल पारिवारिक झगड़ों का जिक्र किया है। इससे साबित होता है कि रोज-रोज के पारिवारिक कलह से वो बिल्कुल टूटा हुआ महसूस कर रहे थे। पुलिस की जांच जारी है, परिवार के लोगों के अलावे एसपी के फॉलोवर और स्टाफ से भी पूछताछ कर रही है। उम्मीद है कि कुछ और खुलासे होंगे। फिलहाल कई घंटे बीतने के बाद भी पारिवारिक अवसाद से हमेशा के लिये निकलने की चाहत में भारी मात्रा में सल्फास खाकर मौत को चूमने की कोशिश करने वाले आईपीएस गंभीर हालत में कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में भर्ती हैं। लेकिन दुखद ये कि पिछले महीने ही ट्रांसफर होकर कानपुर आने वाले मेधा से लबरेज इस नौजवान आईपीएस के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं होता नहीं दिख रहा। उनके शरीर में दिल और फेफड़े ठीक ढंग से काम नहीं कर रहे हैं। ब्लड प्रेशर और पल्स में सुधार नहीं होने के चलते मुंबई से ईसीएमओ नाम की खास डिवाइस मंगाई गई है। मुम्बई से आये डॉ. प्रणव ओझा और उनकी टीम ने एकमो मशीन की मदद से एसपी के शरीर से विषैले खून को निकाल कर साफ खून भी चढ़ाया है।

बलिया के भरौली गांव निवासी सुरेंद्र दास पूरा परिवार लखनऊ में रहता है। 2014 बैच के आईपीएस सुरेंद्र दास की खुदकुशी की कोशिश से जुड़े वजहों को पुलिस बेपर्दा करने में जुटी है। मामले के महकमे के ही एक बेहद आला अफसर से जुड़े होने के कारण पुलिस सभी एंगल से जांच कर सच सामने लाने में जुटी है। जिससे एक-एक कड़ियां मिलाई जा सकें। इसके बाद आईपीएस सुरेंद्र दास की इस दर्गति की पूरी तस्वीर खुद साफ हो जाएगी।

ब्यूरो रिपोर्ट, एपीएन

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.