Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

भोलेनाथ के भक्तों का गोमुख और हरिद्वार से कांवड़ लाने का सिलसिला तेज हो गया है।  पैदल कांवडिय़ों का जत्था शहर और ग्रामीण क्षेत्र से होते हुए अपने गंतव्य के लिए आगे बढ़ रहे हैं। कांवडिय़ों की सेवा के लिए मार्गों पर स्थित मंदिरों, धर्मशालाओं और अन्य जगहों पर समाज सेवियों की ओर से कांवड़ सेवा शिविर भी लगाए गए हैं। आराम करने के लिए कांवडि़ए इनमें ठहर भी रहे हैं और फिर अगले पड़ाव के लिए रवाना भी होते रहते हैं। उधर कांवडिय़ों की सुरक्षा को ध्यान रखते हुए पुलिस की ओर से भी विशेष नजर रखी जा रही है लेकिन कांवड़ के वेश में कांवड़िये सम्मान का गलत फायदा उठाकर हंगामा और तोड़फोड़ कर रहे हैं।

बुलंदशहर में कांवड़ियों का हंगामा, लगाया जाम

बुलंदशहर में कांवड़ के वेशधारी लोगों ने जमकर हंगामा किया। पुरानी रंजिश को लेकर हुई मारपीट में एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। हंगामे की सूचना पर पहुंची पुलिस की डायल 100 गाड़ी को भी कांवड़ियों ने तोड़ डाला। इतना ही नहीं कांवड़ियों ने पुलिसकर्मियों से भी अभद्रता की।

मामला बुलंदशहर के नरसैना थाना क्षेत्रा के बुकलाना गांव का है। जहां पप्पू बिजली का मीटर लगाने का काम करता है। एक सप्ताह पहले पप्पू ठेकेदार के साथ बुकलाना में दीपू के घर पर मीटर लगाने के लिए गया था। इस बात लेकर दोनों पक्षों का विवाद हो गया था। पुलिस ने बताया कि कांवड़ के भेष में बुधवार को कनौना गांव निवासी पप्पू अपने साथियों के साथ कांवड़ियों के जत्थे में अहार जाते समय गांव बुकलाना में रुक गया। पुलिस के मुताबिक, पप्पू के जत्थे की गांव निवासी दीपू से पुरानी रंजिश को लेकर मारपीट हो गई। मारपीट में पप्पू घायल हो गए।

घटना की जानकारी अन्य कांवड़ियों को लगी तो वह भड़क गए। कांवड़ियों ने पुल पर जाम लगा दिया। हंगामे की सूचना पर पहुंची पुलिस पीसीआर वैन को भी तोड़फोड़ दिया। गुस्साए कांवड़ियों ने पुलिसकर्मियों की भी पिटाई की। घटना के बाद पुलिसकर्मी मौके से अपनी जान बचाकर भागे और थाने पर सूचना दी। सूचना मिलते ही मौके पर भारी पुलिस बल पहुंच गया। पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर भीड़ को काबू किया।

फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज करके आगे की जांच शुरु कर दी है। ये कोई पहला मामला नहीं है इससे पहले भी कांवड़ियों के तांडव की खबरें आती रहती हैं। अभी हाल ही में दिल्ली में भी गाड़ी में तोड़फोड़ करने वाली खबर आई थी।

एपीएन ब्यूरो

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.