Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

आम आदमी पार्टी और कुमार विश्वास के बीच की लड़ाई अब जंग में परिवर्तित होती नजर आ रही है। आम आदमी पार्टी के संयोजक ‘अरविंद केजरीवाल’ और पार्टी के वरिष्ठ नेता ‘कुमार विश्वास’ के बीच पड़ी दरार अब खाई का रूप लेती जा रही है। इसका उत्कृष्ट उदाहरण आप के ‘पांचवे स्थापना दिवस’ में देखने को मिल गया था। जहां एक ओर आप पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए भाजपा को आईएसआई का एजेंट करार दिया था। तो वही दूसरी ओर आप पार्टी के ही नेता कुमार विश्वास ने अरविंद केजरीवाल को मतलबी और अहंकारी कह दिया था।

क्या कहा था कुमार विश्वास ने?

रामलीला मैदान में आप के पांचवे स्थापना दिवस के मौके पर जब आप नेता कुमार विश्वास को बोलने का मौका दिया गया था, तो उन्होंने भाजपा की जगह पार्टी संयोजक अरविन्द केजरीवाल को ही निशाने पर ले लिया था। विश्वास ने पार्टी संयोजक पर टॉर्चर करने का आरोप लगाते हुए कहा-कि पार्टी ने मुझे बाहर निकालने की तमाम कोशिशें की, लेकिन जब इससे भी बात न बनी तो उन्होंने मुझे अपमानित करना शुरू कर दिया। लेकिन वो जानते नहीं थे, कि उन्होंने गलत इंसान से पंगा ले लिया है। विश्वास मैदान छोड़कर भागने वालो में नहीं है। विश्वास तो अभिमन्यु की तरह है, जो युद्ध का मैदान बिना जीते नहीं छोड़ेगा।

आप वर्जन 2 लाने का किया दावा

ये मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि कुमार ने एक बार फिर केजरीवाल के विरुद्ध जाकर काम करने का मन बना लिया है। बीते रविवार को कुमार विश्वास ने पार्टी के कार्यकर्ताओं से मुलाकात करने के बाद सीएम केजरीवाल को खुली चुनौती देते हुए कहा, कि वह पार्टी का 2 वर्जन लेकर आएंगे। उन्होंने कहा कि इस पार्टी में बहुत सारी कमियां है और इसमें वायरस भी घुस गया है। इसलिए अब आप पार्टी वर्जन 2 का गठन किया जाएगा, जिसमें वह आम आदमी पार्टी से अप्रैल 2015 में बर्खास्त किए गए प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव जैसे बड़े नेताओं को वापस लाकर ही रहेंगे। साथ ही उन्होंने ये बात भी साफ की, कि ‘वर्जन-2’ का मतलब नई पार्टी से नहीं है, बल्कि इसका मतलब पार्टी को ‘बैक टु बेसिक’ पर वापस लाना है।

कुमार विश्वास ने कहा, कि पार्टी के जिन भी लोगों ने किसी भी कारणवश पार्टी का साथ छोड़ दिया था। वह अगर चाहे तो ‘आप पार्ट 2’ का हिस्सा बन सकते हैं। इसके अलावा अगर किसी नेता ने राजनीतिक दल बना लिया है और विलय चाहता है तो ये भी हो सकता है।

उन्होंने मजाकियां अंदाज में ये भी कहा कि वह कार्यकर्ताओं के एंटी वायरस लगाएंगे। जिसमें वह कार्यकर्ताओं के एंटी वायरस भी लगाएंगे, जो जनप्रतिनिधियों और संगठन में हो रही गलतियों और कमियों को पकड़ सकेंगे, ताकि उन कमियों को बाहर फेंका जा सके।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.