Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ( NGT) को ज़ल्द ही नया पूर्णकालिक अध्यक्ष मिल जाएगा फिलहाल जस्टिस यूडी साल्वी कार्यवाहक अध्यक्ष के तौर पर NGT का काम देख रहे हैं।  NGT के अध्यक्ष और न्यायिक सदस्यों के खाली पदों को भरने के लिए एक सर्च कम सलेक्शन कमेटी बनाई गई है और विशेषज्ञ सदस्यों की नियुक्ति को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

यह जानकारी पर्यावरण और वन मंत्रालय के राज्य मंत्री महेश शर्मा ने लोकसभा में एक सवाल के जवाब में दी। इस वक्त NGT में कुल स्वीकृत पदों में एक अध्यक्ष, 10 न्यायिक सदस्य, 10 विशेषज्ञ सदस्य और 161 अन्य पद शामिल हैं। वर्तमान में खाली पदों की बात करें तो अध्यक्ष, 5 न्यायिक सदस्य, 8 विशेषज्ञ सदस्य और 81 अन्य पद खाली हैं। महेश शर्मा ने कहा कि यह सभी पद नियुक्ति अवधि के पूरे होने, इस्तीफे देने, पदोन्नति या प्रतिनियुक्ति अवधि के पूरा होने के कारण खाली हुए हैं।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने दिसंबर के पहले हफ्ते में NGT की मुख्य बेंच और क्षेत्रीय बैचों में रिक्त पदों के न भरने को लेकर केंद्र से स्पष्टीकरण मांगा थ। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली बेंच ने NGT बार एसोसिएशन द्वारा दायर याचिका पर केंद्र को नोटिस जारी किया था।

रिक्त पदों को भरने में देरी का कारण केंद्र द्वारा नियुक्तियों की प्रक्रिया को संशोधित करने के निर्णय के रूप में देखा जा रहा है। अब NGT अध्यक्ष के चयन की अनुशंसा पांच सदस्यीय समिति करेगी जिसका नेतृत्व चीफ जस्टिस या उनके द्वारा नामांकित व्यक्ति करेगा। हालांकि, भर्ती समिति के अन्य सदस्यों में से अधिकांश की सिफारिश केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय द्वारा की जाएगी। कहा गया है कि NGT में न्यायिक सदस्यों और विशेषज्ञ सदस्यों के पदों को भरने के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं।

हाल ही में नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ( NGT) के अध्यक्ष जस्टिस स्वतंत्र कुमार पांच साल के कार्यकाल के बाद पद से सेवानिवृत्त हुए हैं और अभी जस्टिस यूडी साल्वी कार्यवाहक अध्यक्ष के तौर पर काम कर रहे हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.