Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

INX मीडिया मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पूर्व वित्तमंत्री पी.चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम की 54 करोड़ की संपत्ति और बैंक डिपॉजिट्स को अटैच कर लिया है। जब्त इन संपत्तियों में नई दिल्ली के जोर बाग, ऊटी और कोडाईकनाल में मौजूद बंगले, यूके में स्थित आवास तथा बार्सीलोना में मौजूद एक संपत्ति शामिल हैं।

ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत कार्ति की संपत्तियों को जब्‍त किया है। इनमें तमिलनाडु में कोडाईकनाल और ऊटी में संपत्तियां, दिल्ली के जोर बाग में एक फ्लैट, यूके के समरसेट में एक कॉटेज व घर और बार्सिलोना में स्थित एक टेनिस क्लब भी शामिल है। चेन्नई में एक बैंक में एएससीपीएल के नाम पर रखे गए 90 लाख रुपये के सावधि जमा को भी जब्‍त कर लिया है। ये संपत्तियां कार्ति और एएससीपीएल के नाम पर हैं, जो कथित रूप से उनसे जुड़ी फर्म है।

ये है पूरा मामला:

पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम पर आरोप है कि उन्होंने कर संबंधी जांच से बचने के लिए पीटर और इंद्राणी मुखर्जी के स्वामित्व वाली मीडिया कंपनी INX से कथित तौर पर 10 लाख डॉलर की रिश्वत ली थी। चिदंबरम पर पद के दुरुपयोग का आरोप है। उन पर एफडीआई के लिए नियमों की अनदेखी कर एयरसेल-मैक्सिस कंपनी को लाभ पहुंचाने का आरोप है।

सीबीआई ने साल 2007 में 305 करोड़ रुपये की विदेशी निधि हासिल करने के लिए आईएनएक्स मीडिया को एफआईपीबी से मिली मंजूरी में कथित अनियमितता की शिकायत पाई, जिसके बाद पिछले साल 15 मई को एफआईआर दर्ज की थी। यूपीए-1 सरकार के दौरान जब यह मंजूरी दी गई, उस वक्त पी. चिदंबरम वित्त मंत्री थे।

बता दें कि इस मामले में कार्ति चिदंबरम को एक बार गिरफ्तार भी किया जा चुका है। साथ ही ईडी उनसे कई बार पूछताछ भी कर चुकी है।

वहीं इससे पहले मंगलवार को दिल्ली की एक अदालत में हुई सुनवाई में एयरसेल-मैक्सिस करार में कथित भ्रष्टाचार के खिलाफ पी. चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम की गिरफ्तारी पर अदालत ने अंतरिम संरक्षण 1 नवंबर तक बढ़ा दी है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.