Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

बीजेपी ने राहुल गांधी की गरीबों को हर साल 72 हजार रुपये देने की योजना की जम कर आलोचना की है। वित्त मंत्री अरुण जेटली कहा, कांग्रेस का इतिहास गरीबी और गरीबी हटाने के नाम पर राजनीतिक व्यवसाय का रहा है। उनका इतिहास गरीबी हटाने का नहीं रहा है, बल्कि योजनाओं के नाम पर छल कपट का रहा है। जेटली ने कहा, इंदिरा जी नारों को अर्थशास्‍त्र से बेहतर समझती थींकांग्रेस ने 7 दशकों से देश को धोखा दिया है। कांग्रेस की नीतियों से देश में गरीबी बरकरार रही।

1. कांग्रेस चुनाव तो गरीबी हटाओ के नाम पर जीती थी, लेकिन उस कार्यकाल में केवल गरीबी का वितरण हुआ था।

2. कांग्रेस गरीबी हटाने के लिए आवश्यक काम जैसे अर्थव्यवस्था को बढ़ाने, समाज में आमदनी बढ़ाने से संबंधित कभी कोई नीति नहीं लाई।

3. कांग्रेस के कार्यकाल में छल-कपट, धोखा होता रहा है। 2008 में कर्जमाफी के लिए 70 हजार करोड़ का कर्ज माफ करने की बात कही गई, लेकिन कर्जमाफी हुई 52 हजार करोड़ की और इसमें भी दिल्ली के बड़े व्यापारियों का लाभ दिया गया।

4. कांग्रेस की नीति रही है कि चुनाव जीतने के लिए गरीब को धोखा देना और साधन न देना।

5. कांग्रेस पार्टी का इतिहास रहा है कि गरीब को नारे दो और साधन मत दो।

6. आज केंद्र सरकार की 55 विभागों की योजनाओं के लाभार्थियों को डीबीटी के माध्यम से बैंक के खाते में सीधे लाभ दे रहे हैं।

7. राहुल गांधी द्वारा किये गये ऐलान से 1.5 गुना ज्यादा हम पहले से डीबीटी के माध्यम से गरीबों को दे रहे हैं।

8. केवल नारों और बयानों से गरीबी नहीं जाएगी, साधनों से गरीबी जाएगी। गरीबी मिटाने के लिए मोदी सरकार ने साधन दिए हैं। इतने धोखे देने के बाद आज एक बार फिर कांग्रेस ने धोखा दिया है, जनता अब फंसने वाली नहीं है।

वित्त मंत्री अरुण जेटली कहा, कांग्रेस ने गरीबी के नाम पर 50 साल तक गुमराह किया है। अगर नारा देने के बाद भी और उसे अपना कार्यक्रम मानने के बाद भी आज आपको लगता है कि बीस फीसदी लोग ऐसे हैं जिनके पास 12,000 की भी आमदनी नहीं है तो 1971 के बाद 48 साल हो गए हैं। इन वर्षों में दो तिहाई कांग्रेस की सरकार रही है। तो ऐसे में यह आपकी असफलता है कि आपने गरीबी और ज्यादा बढ़ने दिया।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.