Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

कांग्रेस समेत सात राजनीतिक दलों द्वारा सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायधीश के खिलाफ पेश किए गए महाभियोग के प्रस्ताव को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गलत ठहराया है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता ने कहा, कि ‘कांग्रेस द्वारा दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग का नोटिस देना गलत था। उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था। ममता ने बताया, कांग्रेस हमारा समर्थन चाहती थी लेकिन हमने ऐसा नहीं किया।

यह भी पढ़े: CJI दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव खारिज, ये हैं कारण

ममता बनर्जी ने बताया, कि उन्होंने  सोनिया गांधी और राहुल गांधी को इस बारे में समझाया भी था और ऐसे करने से मना भी किया था लेकिन कांग्रेस ने उनकी एक न सुनी। ममता ने कहा कि उनकी पार्टी न्यायपालिका की प्रक्रिया में हस्तक्षेप नहीं करना चाहती है।

फेडरल फ्रंट बनाने की घोषणा

इसके अलावा तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा, कि कांग्रेस जिस तरीके से राहुल गांधी के आदेशानुसार विरोधी पार्टियों को एक करने की मुहिम चला रही है, वह इसे स्वीकार नहीं करती और वह राहुल गांधी के नेतृत्व को नहीं मानती। उन्होंने कहा, हम 2019 में केंद्र की भाजपा सरकार को हराना चाहते हैं लेकिन इसके लिए कांग्रेस के आगे झुकना भी नहीं चाहते। इसलिए हम भाजपा को हराने के लिए फेडरल फ्रंट पार्टी तैयार करेंगे। जिसमें अन्य सभी पार्टियों का एक समान महत्व दिया जाएगा।

भाजपा की हार तय: ममता

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए ममता ने कहा, कि यह देश किसी की जमींदारी नहीं है और वह किसी की जमींदारी को नहीं मानतीं। भाजपा पर वार करते हुए ममता ने कहा, कि केंद्र की सरकार एक के बाद एक गलत फैसले ले रहे हैं जिसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है। सरकार को अपने गलत फैसलों का नतीजा वर्ष 2019 के चुनाव में हार के साथ भुगतना पड़ेगा।

यह भी पढ़े: CJI दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग की तैयारी, ये जज भी झेल चुके हैं महाभियोग का दर्द

गौरतलब है कि सोमवार को उपराष्ट्रपति और राज्यसभा सभापति वैंकेया नायडू ने चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ विपक्ष के महाभियोग प्रस्ताव को खारिज कर दिया था। नायडू ने कहा था, कि इसमें सीजेआई के दुर्व्यवहार को साबित करने वाले पर्याप्त सबूतों की कमी हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.