Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

एक बार फिर कांग्रेस को मुंह की खानी पड़ी है। पिछली बार गोवा में वो सरकार बनाने से चूक गई और इस बार मेघालय में भी वहीं हाल देखने को मिला। भले ही मेघालय में कांग्रेस ने अधिक सीटें पाई हों लेकिन चुनावी गुणा-गणित में वो बीजेपी से काफी पीछे है जिसके कारण मेघालय में एनडीए सरकार बनाने में सफल रही।  मेघालय में कॉनराड संगमा ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है। शपथग्रहण समारोह में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद थे। मेघालय के राज्यपाल गंगा प्रसाद ने कोनराड समेत अन्य मंत्रियों को पद की शपथ दिलाई।

राज्‍य में पांच दलों और एक निर्दलीय के समर्थन से एनडीए सरकार बनी है। कोनराड के साथ जेम्स पीके संगमा, ए एल हेक समेत 11 मंत्रियों ने भी शपथ ली। बता दें कि  कोनराड पूर्व लोकसभा स्पीकर और मेघालय के पूर्व मुख्यमंत्री पीए संगमा के बेटे हैं। उन्होंने अपनी एमबीए की पढ़ाई लंदन से की है। साल 2008  में पहली बार कोनराड मेघालय से विधायक चुने गए थे। इसी साल उन्हें राज्य के सबसे युवा वित्तमंत्री बनने का भी अवसर मिला था। कोनराड संगमा ने मंगलवार को कहा था, ‘मेरे पास संख्याबल होने के कारण राज्यपाल ने राज्य में सरकार बनाने के लिए मुझे आमंत्रित किया है।’ इसकी पुष्टि करते हुए राज भवन के एक अधिकारी ने कहा, ‘राज्यपाल ने सरकार बनाने के लिए कोनराड संगमा को आमंत्रित किया है, क्योंकि उनके पास 34 विधायकों का समर्थन है।’

मेघालय विधानसभा चुनाव की स्थिति देखी जाए तो 60 में से 21 सीटें कांग्रेस के खाते में है। वहीं एनपीपी के खाते में 19 और बीजेपी के खाते में महज 2 सीटें ही आई हैं। जबकि यूनाईटेड डेमोक्रेटिक पार्टी को 6 और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी को 2 सीटें मिली हैं। इन सबके बावजूद बीजेपी ने सबको एकत्रित कर सरकार बनाने की दावेदारी पेश कर दी और मेघालय में भी भगवा झंडा गाढ़ दिया। संगमा के शपथग्रहण को लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘मैं कॉनराड संगमा को बधाई देता हूं। यह एक धारणा थी कि पूर्वोत्तर में केवल कांग्रेस पार्टी ही निर्वाह कर सकती है, लेकिन अब भाजपा ने जीत हासिल कर इस धारणा को बदल दिया है।’

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.